अमित शाह के से घबराई ISI, जम्मू कश्मीर में बनाया नया अलगाववादी गुट

amit shah
अमित शाह के से घबराई ISI, जम्मू कश्मीर में बनाया नया अलगाववादी गुट

नई दिल्ली। गृह मंत्रालय के सूत्रों से बड़ी खबर आ रही है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की कार्रवाई से घबराई पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने जम्मू कश्मीर में नया अलगाववादी ग्रुप बनाया है। सूत्रों के मुताबिक पकिस्तान ने इस नए ग्रुप में लश्कर के आतंकियों को भी शामिल किया है।

Home Minister Amit Shah Pakistan Isi New Separatist Group :

आइएसआई की मदद से बने इस ग्रुप को कश्मीर के साथ साथ जम्मू में सेना और सुरक्षाबलों के खिलाफ बड़े प्रदर्शन की जिम्मेदारी दी गई है ।रिपोर्ट के मुताबिक नए ग्रुप का प्रेसिडेंट इरशाद अहमद मालिक को बनाया गया है जिसके बारे में कहा जा रहा है की वो पूर्व में लश्कर का आतंकी रह चुका है।

आतंकियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति

अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद ही गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने ये साफ़ कर दिया था की आतंक और अलगावादियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की पालिसी लगातार जारी रहेगी। एनआईए ,इनकम टैक्स और प्रवर्तन निदेशालय कश्मीर में फैले भ्रष्टाचार और टेरर फंडिंग के खिलाफ कमर कस चुकी है जिससे आतंकी बौखलाए हुए है। एनआईए ने कई बड़े अलगवादी नेताओं को जेल में डाल दिया है जिसके बाद से कश्मीर में आतंक की कमर टूट रही है।

आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन

इस साल सेना ने जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन आल आउट चला रखा है। इस साल 100 से अधिक आतंकियों को मार गिराया गया है। इसमें अधिकतर लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी शामिल हैं। बीते दिनों सुरक्षाबलों ने जाकिर मूसा को भी मार गिराया था. जाकिर मूसा, आतंकियों का पोस्टर ब्वॉय था।

नई दिल्ली। गृह मंत्रालय के सूत्रों से बड़ी खबर आ रही है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की कार्रवाई से घबराई पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने जम्मू कश्मीर में नया अलगाववादी ग्रुप बनाया है। सूत्रों के मुताबिक पकिस्तान ने इस नए ग्रुप में लश्कर के आतंकियों को भी शामिल किया है। आइएसआई की मदद से बने इस ग्रुप को कश्मीर के साथ साथ जम्मू में सेना और सुरक्षाबलों के खिलाफ बड़े प्रदर्शन की जिम्मेदारी दी गई है ।रिपोर्ट के मुताबिक नए ग्रुप का प्रेसिडेंट इरशाद अहमद मालिक को बनाया गया है जिसके बारे में कहा जा रहा है की वो पूर्व में लश्कर का आतंकी रह चुका है। आतंकियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद ही गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने ये साफ़ कर दिया था की आतंक और अलगावादियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की पालिसी लगातार जारी रहेगी। एनआईए ,इनकम टैक्स और प्रवर्तन निदेशालय कश्मीर में फैले भ्रष्टाचार और टेरर फंडिंग के खिलाफ कमर कस चुकी है जिससे आतंकी बौखलाए हुए है। एनआईए ने कई बड़े अलगवादी नेताओं को जेल में डाल दिया है जिसके बाद से कश्मीर में आतंक की कमर टूट रही है। आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन इस साल सेना ने जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन आल आउट चला रखा है। इस साल 100 से अधिक आतंकियों को मार गिराया गया है। इसमें अधिकतर लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी शामिल हैं। बीते दिनों सुरक्षाबलों ने जाकिर मूसा को भी मार गिराया था. जाकिर मूसा, आतंकियों का पोस्टर ब्वॉय था।