लखनऊ। भारतीय खाने में हल्दी को हर खाने में इस्तेमाल किया जाता है। खाने का रंग बढ़ाने के साथ हल्दी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी बेहद चमत्कारी हो सकती है। इम्यूनिटी बढ़ाना कितना जरूरी है यह तो आप सभी जानते हैं। इस महामारी के दौर में हर कोई अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के उपाय में जुटे होंगे। आइये जानते हैं इसके फायदे के बारे में…..

Home Remedies For Immunity :

ऐसे करें सेवन

कच्ची हल्दी डालकर एक चम्मच घी के साथ उबालें और इसे रोज सुबह खाएं। यह प्रतिरक्षा में सुधार और सूखी खांसी को ठीक करने में मदद कर सकता है।
आप कच्ची हल्दी और एक चम्मच घी भी पीस सकते हैं और अपने दिन को शुरू करने से पहले एक ठंडी मॉर्निंग ड्रिंक बना सकते हैं।

कच्ची हल्दी के फायदे

कच्ची हल्दी पाचन को बेहतर करने में काफी फायदेमंद मानी जाती है।
कच्ची हल्दी का सेवन पेट के अल्सर और जलन के इलाज में भी मदद कर सकता है।
यह शरीर में सूजन को कम करने में भी मदद करता है।
इसका उपयोग त्वचा रोगों के उपचार में भी किया जाता है।
कच्ची हल्दी को चोट लगने पर मरहम के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।
यह रक्त को शुद्ध करता है, इससे विषाक्त पदार्थों को समाप्त कर सकती है।
कच्ची हल्दी को ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित करने के लिए कारगर माना जाता है।
हल्दी इम्यूनिटी को बढ़ाने और सर्दी, खांसी और छाती में जकड़न को खत्म करने में मदद कर सकती है।
हल्दी में कई एंटी ऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं जो इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मददगार हो सकते हैं।
हल्दी, जो एंटीवायरल, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल है, प्रीबायोटिक भी है जो हमारे पेट में स्वस्थ बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देती है
हल्दी एक शक्तिशाली जड़ी बूटी है जिसमें बीटा-कैरोटीन, एस्कॉर्बिक एसिड (विटामिन सी), कैल्शियम, फ्लेवोनोइड्स, फाइबर, लोहा, नियासिन, पोटेशियम, जस्ता जैसे पोषक तत्व हैं।
इसमें सक्रिय यौगिक एंटी इंफ्लेमेट्री और एंटी बैक्टीरियल गुणों के लिए करक्यूमिन पाया जाता है।
अगर हल्दी को कच्ची खाया जाए तो यह इम्यूनिटी बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों में एक कमाल की औषधि हो सकती है।
इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी काफी फायदेमंद मानी जाती है।