1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. Honey Effects : शहद शरीर के अंदरूनी अंगों को दुरुस्त करता है, जिंदगी को देता है रफ्तार

Honey Effects : शहद शरीर के अंदरूनी अंगों को दुरुस्त करता है, जिंदगी को देता है रफ्तार

शहद सिद्ध और आयुर्वेद चिकित्सा का एक महत्वपूर्ण अंग है। प्राचीन काल से, शहद को सबसे मूल्यवान खाद्य उत्पादों में से एक माना जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Honey Effects : शहद सिद्ध और आयुर्वेद चिकित्सा का एक महत्वपूर्ण अंग है। प्राचीन काल से, शहद को सबसे मूल्यवान खाद्य उत्पादों में से एक माना जाता है। यह मधुमक्खियों द्वारा फूलों के अमृत से निर्मित एक प्राकृतिक उत्पाद है। शहद अस्थमा, गले के संक्रमण, नेत्र रोग, हिचकी, तपेदिक, चक्कर आना, थकान, बवासीर, हेपेटाइटिस और कब्ज जैसी कई स्थितियों के लिए सहायक हो सकता है।

पढ़ें :- प्याज का ऊपरी हिस्सा छीलकर उसे विनेगर और पानी के घोल में थोड़ी देर के लिए डुबाते हैं,

गहरे रंग के शहद में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक पाई गई है। शहद में एक स्टार्ची फाइबर डे‍क्सट्रिन भी होता है। यह मिश्रण शरीर में रक्त शर्करा का स्तर संतुलित रखता है।अगर आप सर्दी-जुकाम से जुड़ी बीमारियों से पीड़ित हैं या आपको हर सुबह बंद नाक से जूझना पड़ता है, तो नीम, काली मिर्च, शहद और हल्दी का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है।

शहद कब्ज, पेट फूलने और गैस में लाभकारी होता है क्योंकि यह एक हल्का लैक्सेटिव है।शहद खराब नहीं होता और उसे ठीक से बंद करके रखने पर लंबे समय तक रखा जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...