यूपी-उत्तराखंड में शराबकांड से कोहराम, मौतों का आंकड़ा 100 से पार

jahrili-sharab
यूपी-उत्तराखंड में शराबकांड से कोहराम, मौतों का आंकड़ा 100 से पार

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब की चपेट में आने से अब तक 100 से ज्यादा लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं। मौत का आंकड़ा सामने आने के बाद आनन-फानन में प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर जिम्मेदारों पर नकेल कसनी शुरू कर दी। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये और जिनका इलाज चल रहा है उनके लिए 50 हजार रुपये का ऐलान कर दिया। सीएम की सख्ती के बाद पुलिस ने भी आस-पास के इलाकों में छापेमारी कर हजारों लीटर अवैध शराब बरामद की है।

Hooch Tragedy Deeath Toll Going Up Up Uttarkhand Yogi Adityanath Action Arresting Fir :

यूपी के आबकारी विभाग के आंकड़ों की मानें तो अवैध शराब के अड्डों को लेकर अब तक 297 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं और 175 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं जिन इलाकों में पुलिस के संरक्षण में अवैध शराब बनाने का काम चल रहा था, उन खाकीधारियों पर भी शासन की नजरें टेढ़ी हो गयी हैं। अकेले सहारनपुर में 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है।

मौत की संख्या 100 के पार जाने पर योगी सरकार की सख्ती के बाद प्रशासन ने अवैध शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ 15 दिन का अभियान शुरू किया है। सहारनपुर में अब तक 39 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि 35 मुकदमें दर्ज किए गए हैं। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कार्रवाई के आदेश दिए थे। इसके बाद अवैध शराब के खिलाफ पूरे प्रदेश में जोरदार अभियान चलाया जा रहा है।

बता दें कि अभी तक यूपी में 77 और उत्तराखंड में 32 लोगों की मौत हो चुकी है। उत्तराखंड के रुड़की में अब तक 32 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि यूपी में सहारनपुर में 69 (सहारनपुर में 46 और मेरठ में 23) और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत की खबर है। दोनों राज्यों में मौत का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है, क्योंकि रुड़की में अभी भी कई लोगों की तबीयत बहुत गंभीर बनी हुई है।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब की चपेट में आने से अब तक 100 से ज्यादा लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं। मौत का आंकड़ा सामने आने के बाद आनन-फानन में प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर जिम्मेदारों पर नकेल कसनी शुरू कर दी। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये और जिनका इलाज चल रहा है उनके लिए 50 हजार रुपये का ऐलान कर दिया। सीएम की सख्ती के बाद पुलिस ने भी आस-पास के इलाकों में छापेमारी कर हजारों लीटर अवैध शराब बरामद की है।यूपी के आबकारी विभाग के आंकड़ों की मानें तो अवैध शराब के अड्डों को लेकर अब तक 297 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं और 175 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं जिन इलाकों में पुलिस के संरक्षण में अवैध शराब बनाने का काम चल रहा था, उन खाकीधारियों पर भी शासन की नजरें टेढ़ी हो गयी हैं। अकेले सहारनपुर में 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है।मौत की संख्या 100 के पार जाने पर योगी सरकार की सख्ती के बाद प्रशासन ने अवैध शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ 15 दिन का अभियान शुरू किया है। सहारनपुर में अब तक 39 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि 35 मुकदमें दर्ज किए गए हैं। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कार्रवाई के आदेश दिए थे। इसके बाद अवैध शराब के खिलाफ पूरे प्रदेश में जोरदार अभियान चलाया जा रहा है।बता दें कि अभी तक यूपी में 77 और उत्तराखंड में 32 लोगों की मौत हो चुकी है। उत्तराखंड के रुड़की में अब तक 32 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि यूपी में सहारनपुर में 69 (सहारनपुर में 46 और मेरठ में 23) और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत की खबर है। दोनों राज्यों में मौत का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है, क्योंकि रुड़की में अभी भी कई लोगों की तबीयत बहुत गंभीर बनी हुई है।