कर्नाटक में 17 मई तक शराब बेच पाएंगे होटल-बार, सरकार ने रखी यह शर्त

liquor
स्विगी ने आज से शुरू की शराब की होम डिलीवरी, इस राज्य से हुई शुरुआत

बेंगलुरु: कोरोना वायरस (Coronavirus)के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन (Lockdown In India )के बीच कर्नाटक (Karnataka) सरकार ने फैसला किया है कि आज यानी 9 मई से 17 मई तक राज्य में शराब की बिक्री की जा सकेगी  कर्नाटक (Karnataka) सरकार ने शराब (Liquor) की बिक्री से राजस्व बढ़ाने के लिए राज्य के रेस्टोरेंट, बार और पब को रिटेल मूल्य पर शराब बेचने की अनुमति दे दी है. राज्य सरकार ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी किया.      

Hotel Bars Will Be Able To Sell Liquor In Karnataka Till May 17 :

आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत ज्यादा

बता दें कर्नाटक में लॉकडाउन फेज 3 के पहले दिन यानी सोमवार को 45 करोड़ रुपये की शराब बिक्री हुई थी. इसके बाद दूसरे दिन यानी मंगलवार को 197 करोड़ रुपये की शराब बिक्री हुई थी. वहीं कर्नाटक सरकार ने शराब पर आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत ज्यादा करने का बुधवार को फैसला किया. सरकार ने कोविड-19 महामारी की रोकथाम के उपायों के तहत शराब की दुकान खोलने पर लगी रोक उठाने के दो दिन बाद इस पर आबकारी शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया है ताकि राजस्व बढ़ाया जा सके.

बजट में भी शराब पर आबकारी शुल्क छह प्रतिशत बढाया गया था. मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सरकार के यह जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था कि ‘हमने आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत बढ़ा दिया है. यह बजट में की गयी वृद्धि के अतिरिक्त है.’ उन्होंने कहा कि यह बढ़ोतरी एक दो दिन में प्रभावी होगी क्योंकि सामान पर इसका ठप्पा लगाने और अन्य प्रक्रियाओं में कुछ समय लगता है.  

बेंगलुरु: कोरोना वायरस (Coronavirus)के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन (Lockdown In India )के बीच कर्नाटक (Karnataka) सरकार ने फैसला किया है कि आज यानी 9 मई से 17 मई तक राज्य में शराब की बिक्री की जा सकेगी  कर्नाटक (Karnataka) सरकार ने शराब (Liquor) की बिक्री से राजस्व बढ़ाने के लिए राज्य के रेस्टोरेंट, बार और पब को रिटेल मूल्य पर शराब बेचने की अनुमति दे दी है. राज्य सरकार ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी किया.       आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत ज्यादा बता दें कर्नाटक में लॉकडाउन फेज 3 के पहले दिन यानी सोमवार को 45 करोड़ रुपये की शराब बिक्री हुई थी. इसके बाद दूसरे दिन यानी मंगलवार को 197 करोड़ रुपये की शराब बिक्री हुई थी. वहीं कर्नाटक सरकार ने शराब पर आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत ज्यादा करने का बुधवार को फैसला किया. सरकार ने कोविड-19 महामारी की रोकथाम के उपायों के तहत शराब की दुकान खोलने पर लगी रोक उठाने के दो दिन बाद इस पर आबकारी शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया है ताकि राजस्व बढ़ाया जा सके. बजट में भी शराब पर आबकारी शुल्क छह प्रतिशत बढाया गया था. मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सरकार के यह जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था कि ‘हमने आबकारी शुल्क 11 प्रतिशत बढ़ा दिया है. यह बजट में की गयी वृद्धि के अतिरिक्त है.’ उन्होंने कहा कि यह बढ़ोतरी एक दो दिन में प्रभावी होगी क्योंकि सामान पर इसका ठप्पा लगाने और अन्य प्रक्रियाओं में कुछ समय लगता है.