इस बुजुर्ग ने आखिर ऐसा क्या कहा कि मनमोहन सिंह को जोड़ना पड़ा हाथ

manmohan

राजकोट।पौरव प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह गुरुवार को एक कार्यक्रम में शिरकत करने राजकोट पहुंचे जहां उन्हें एक बुजुर्ग युवक मिल गया। सुरक्षा का घेरा तोड़ वह बुजुर्ग मनमोहन के पास पहुंचा था। उसने अपनी बात मनमोहन के समक्ष रखी। बुजुर्ग की बातें सुन मनमोहन सिंह ने हाथ जोड़ लिए और काफी देर तक चुप खड़े रहे। मनमोहन को ऐसे खड़ा देख वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए।

How Did This Elderly Say That Manmohan Had To Join Hands :

मनसुखभाई नाम का बुजुर्ग हाथ में एक किताब लिए अचानक एसपीजी के घेरे के बीच खड़े मनमोहन के बाद पहुंच गया। पहले एसपीजी ने सोचा कि यह कांग्रेस कार्यकर्त्ता है लेकिन जब जवानों को सारा माजरा समझ आया तो उन्होंने बुजुर्ग को वहां से हटाया। सभी में इसी बात की चर्चा थी कि आखिर बुुजुर्ग ने पूर्व पीएम को ऐसे क्या कहा कि उन्होंने हाथ जोड़ दिए।

मीडिया ने जब मनसुखभाई से बात की तो उन्होंने बताया कि मैं कांग्रेस के घोटालों की किताब लेकर मनमोहन सिंह के पास गया था और उनसे यूपीए सरकार में हुए घोटालों के बारे में सवाल किया। मनसुखभाई ने सिंह से पूछा कि आपके कार्यकाल में 20 लाख करोड़ के घोटाले हुए हैं, आपके नेता जेल में है और कई बाहर घूम रहे हैं तो ऐसे में मैं कांग्रेस को वोट क्यों दूं।

मनसुखभाई कहा कि मनमोहन ने उनके किसी सवाल का जवाब नहीं दिया और जवानों ने उन्हें वहां से हटा दिया। बताया जा रहा है कि किसी समय मनसुखभाई कांग्रेस से जु़डे हुए थे। वे कांग्रेस के कार्यकाल में हुए घोटालों से आहत थे इसलिए पूर्व पीएम से जवाब चाहते थे लेकिन उन्होंने मौन धरे रखा।

राजकोट।पौरव प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह गुरुवार को एक कार्यक्रम में शिरकत करने राजकोट पहुंचे जहां उन्हें एक बुजुर्ग युवक मिल गया। सुरक्षा का घेरा तोड़ वह बुजुर्ग मनमोहन के पास पहुंचा था। उसने अपनी बात मनमोहन के समक्ष रखी। बुजुर्ग की बातें सुन मनमोहन सिंह ने हाथ जोड़ लिए और काफी देर तक चुप खड़े रहे। मनमोहन को ऐसे खड़ा देख वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए।मनसुखभाई नाम का बुजुर्ग हाथ में एक किताब लिए अचानक एसपीजी के घेरे के बीच खड़े मनमोहन के बाद पहुंच गया। पहले एसपीजी ने सोचा कि यह कांग्रेस कार्यकर्त्ता है लेकिन जब जवानों को सारा माजरा समझ आया तो उन्होंने बुजुर्ग को वहां से हटाया। सभी में इसी बात की चर्चा थी कि आखिर बुुजुर्ग ने पूर्व पीएम को ऐसे क्या कहा कि उन्होंने हाथ जोड़ दिए।मीडिया ने जब मनसुखभाई से बात की तो उन्होंने बताया कि मैं कांग्रेस के घोटालों की किताब लेकर मनमोहन सिंह के पास गया था और उनसे यूपीए सरकार में हुए घोटालों के बारे में सवाल किया। मनसुखभाई ने सिंह से पूछा कि आपके कार्यकाल में 20 लाख करोड़ के घोटाले हुए हैं, आपके नेता जेल में है और कई बाहर घूम रहे हैं तो ऐसे में मैं कांग्रेस को वोट क्यों दूं।मनसुखभाई कहा कि मनमोहन ने उनके किसी सवाल का जवाब नहीं दिया और जवानों ने उन्हें वहां से हटा दिया। बताया जा रहा है कि किसी समय मनसुखभाई कांग्रेस से जु़डे हुए थे। वे कांग्रेस के कार्यकाल में हुए घोटालों से आहत थे इसलिए पूर्व पीएम से जवाब चाहते थे लेकिन उन्होंने मौन धरे रखा।