विघ्नहर्ता श्री गणेश जी को खुश करने के आसान उपाय

विघ्नहर्ता श्री गणेश जी , lord ganesh
विघ्नहर्ता श्री गणेश जी को खुश करने के आसान उपाय

लखनऊ। गणेश जी बुद्धि के देवता, अमंगल और विघ्नहर्ता माना जाता हैं। कहा जाता है कि जिस पर गणेश जी की कृपा हो जाए उसके जीवन में आने वाली सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। श्री गणेश बहुत छोटे-छोटे उपायों से भी प्रसन्न हो जाते हैं। आइए जानते हैं कुछ बहुत सरल उपाय जिन्हें करने से गणेशजी की कृपा और अशीर्वाद मिलने लगता है व धन व बुद्धि की कमी नहीं होती है।

How To Worship Lord Ganesh And Remedies For Money Problem :

  • भगवान गणेश को इस दिन घी और गुड़ का भोग लगाएं। भोग लगाने के बाद घी और गुड़ गाय को खिलाना चाहिए। ऐसा करने से घर में धन व खुशहाली आती है।
  • अगर घर में नकारात्मक शक्तियों का वास है तो घर के मंदिर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करनी चाहिए। इससे सभी प्रकार की बुरी शक्तियों का नाश होता है।
  • भगवान गणेश को राेजाना थोड़े चावल अर्पित करें और जिस दिन विसर्जन करें उस दिन उन चावलों को लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखें। बरकत बनी रहेगी। सूखा चावल गणेश जी को नहीं चढ़ाएं। चावल का गीला करें फिर, ‘इदं अक्षतम् ऊं गं गणपतये नमः’ मंत्र बोलते हुए तीन बार गणेश जी को चावल चढ़ाएं।
  • हर दिन सुबह स्नान पूजा करके गणेश जी को गिन कर पांच दूर्वा यानी हरी घास अर्पित करें। दुर्वा गणेश जी के मस्तक पर रखना चाहिए। चरणों में दुर्वा नहीं रखें। दुर्वा अर्पित करते हुए मंत्र बोलें ‘इदं दुर्वादलं ऊं गं गणपतये नमः।
  • शमी गणेश जी को अत्यंत प्रिय है। शमी के कुछ पत्ते नियमित गणेश जी को अर्पित करें तो घर में धन एवं सुख की बढ़ोत्तरी होती है।
लखनऊ। गणेश जी बुद्धि के देवता, अमंगल और विघ्नहर्ता माना जाता हैं। कहा जाता है कि जिस पर गणेश जी की कृपा हो जाए उसके जीवन में आने वाली सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। श्री गणेश बहुत छोटे-छोटे उपायों से भी प्रसन्न हो जाते हैं। आइए जानते हैं कुछ बहुत सरल उपाय जिन्हें करने से गणेशजी की कृपा और अशीर्वाद मिलने लगता है व धन व बुद्धि की कमी नहीं होती है।
  • भगवान गणेश को इस दिन घी और गुड़ का भोग लगाएं। भोग लगाने के बाद घी और गुड़ गाय को खिलाना चाहिए। ऐसा करने से घर में धन व खुशहाली आती है।
  • अगर घर में नकारात्मक शक्तियों का वास है तो घर के मंदिर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करनी चाहिए। इससे सभी प्रकार की बुरी शक्तियों का नाश होता है।
  • भगवान गणेश को राेजाना थोड़े चावल अर्पित करें और जिस दिन विसर्जन करें उस दिन उन चावलों को लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखें। बरकत बनी रहेगी। सूखा चावल गणेश जी को नहीं चढ़ाएं। चावल का गीला करें फिर, 'इदं अक्षतम् ऊं गं गणपतये नमः' मंत्र बोलते हुए तीन बार गणेश जी को चावल चढ़ाएं।
  • हर दिन सुबह स्नान पूजा करके गणेश जी को गिन कर पांच दूर्वा यानी हरी घास अर्पित करें। दुर्वा गणेश जी के मस्तक पर रखना चाहिए। चरणों में दुर्वा नहीं रखें। दुर्वा अर्पित करते हुए मंत्र बोलें 'इदं दुर्वादलं ऊं गं गणपतये नमः।
  • शमी गणेश जी को अत्यंत प्रिय है। शमी के कुछ पत्ते नियमित गणेश जी को अर्पित करें तो घर में धन एवं सुख की बढ़ोत्तरी होती है।