कंगना के आरोपों पर ऋतिक ने लेटर जारी कर दिया जबाब

मुंबई। कंगना रनौत और ऋतिक रोशन के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है, समय-समय पर ये दोनों एक दूसरे पर आरोप लगते रहते है। मामला न्यायालय में होने के बावजूद इस दोनों के बीच छीटाकशी का दौर जारी है। बताते चलें कि अभी पिछले दिनों कंगना रनौत ने एक निजी चैनल पर इंटरव्यू के दौरान ऋतिक पर कई संगीन आरोप लगाए थे जिसके बाद यह मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया था। कंगना के बेबाकी की चौतरफा प्रशंसा होने लगी थी लेकिन अब इसपर ऋतिक ने एक बार फिर पलटवार किया है। ऋतिक ने सोशल मीडिया पर एक लंबा चौड़ा लेटर जारी किया है जिसमें उन्होने अपना पक्ष रखा है। ऋतिक का लेटर…

मैं रचनात्मक और रास्ता चुनना पसंद करता हूं, इसके अलावा मैं बाकी चीजों को नज़रअंदाज कर किनारे कर देता हूं। मैं मानता हूं कि लगातार होने वाली दखलअंदाज़ी को हतोत्साहित करने और सम्मान के रास्ते पर बने रहने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप रिएक्ट ही न करें। मुझे नहीं लगता है कि जब मैं इन सब में कहीं शामिल ही नहीं हूं तो जबरन अपना कैरेक्टर सर्टिफ़िकेट देकर इस सर्कस को बढ़ावा देने का कोई फ़ायदा नहीं है। मुझे मेरी मर्जी के बगैर इस गंदी चर्चा में खींच लिया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- In Pics: अंबानी की डिनर पार्टी में श्रीदेवी की बेटी पर टिकी सबकी निगाहें }

सच तो ये है कि मैं इस महिला (कंगना) से कभी व्यक्तिगत तौर पर मिला ही नहीं। हां, हमने साथ काम ज़रूर किया है लेकिन हमारे बीच कोई प्राइवेट मीटिंग कभी नहीं हुई। कृपया इस बात को समझें कि मैं अफ़ेयर के आरोपों के ख़िलाफ़ कोई लड़ाई नहीं लड़ रहा हूं और न ही ‘अच्छे लड़के’ वाली छवि बनाए रखने की कोई बचकाना कोशिश कर रहा हूं। मैं एक इंसान हूं और अपनी कमियों से अच्छी तरह वाकिफ़ हूं। दुख इस बात है कि मीडिया और लोगों का बहुत छोटा तबका ऐसा है, जिसकी दिलचस्पी सच जानने में है।

अगर लोग इस झूठ के साथ सहज हैं कि महिलाएं हमेशा पीड़ित होती हैं पुरुष हमेशा उत्पीड़न करने वाला, तो मुझे भी इससे कोई दिक्कत नहीं है।यह सच है कि महिलाएं सदियों से पुरुषों के हाथों उत्पीड़न झेलती आई हैं और मुझे ये देखकर बहुत गुस्सा आता है कि कुछ मर्द औरतों के प्रति इतने क्रूर कैसे हो सकते हैं। लेकिन इस आधार पर अगर ये तर्क दिया जाता है कि पुरुष कभी पीड़ित नहीं हो सकता और महिला कभी झूठी नहीं हो सकती, तो मुझे इससे भी कोई दिक्कत नहीं है।

{ यह भी पढ़ें:- सेना के जवान को थप्पड़ मारने वाली महिला अरेस्ट }

सोचिए, दो हाई प्रोफ़ाइल सेलिब्रिटीज में सात साल तक अफ़ेयर चला और कोई तस्वीर नहीं, कोई सबूत नहीं। एक सेल्फ़ी तक नहीं. फिर भी हम लड़की की बातों का यकीन कर रहे हैं क्योंकि हम सोचते हैं कि एक लड़की भला झूठ क्यों बोलेगी? अगर आप मेरे पासपोर्ट की ट्रैवल डीटेल्स देखें तो पाएंगे कि जनवरी, 2014 में मैं कहीं बाहर गया ही नहीं और दावा किया जाता है कि हमने पेरिस में सगाई की थी। हमारे इस कथित रिश्ते का एकमात्र सबूत जो मीडिया में पेश किया गया वो एक फ़ोटोशॉप की हुई तस्वीर थी। इसके अगले ही दिन मेरी एक्स बीवी और दोस्तों ने उस तस्वीर की सच्चाई दुनिया के सामने रख दी।

ये सवाल तक नहीं पूछे जा रहे हैं क्योंकि हमें औरतों की रक्षा करना सिखाया जाता है और हमें ऐसा करना भी चाहिए। मुझे खुद भी यही सिखाकर बड़ा किया गया है। मेरी ज़िदगी में आई महिलाएं हमेशा मेरा सपोर्ट सिस्टम बनकर साथ रही हैं, मैं हमेशा उनका शुक्रगुजार रहूंगा, मैं अपने बच्चों को भी औरतों के हक के लिए लड़ना सिखाऊंगा। उनका (कंगना) का कहना है कि मैंने उन्हें 3,000 मेल्स भेजे हैं. साइबर क्राइम विभाग कुछ दिनों में इसे सही या ग़लत साबित कर सकता है।

मैंने तो लैपटॉप और फ़ोन समेत सभी गैजेट्स साइबर सेल में जमा कर रखे हैं लेकिन दूसरे पक्ष ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। ये केस अब भी बंद नहीं हुआ है। मैं फिर से कहना चाहूंगा कि ये दो प्रेमियों के बीच का विवाद नहीं है। मेरा पिछले चार सालों से उत्पीड़न हो रहा हूं और पक्षपातपूर्ण रवैये की वजह से मैं अपनी बात नहीं रख पाया हूं। मैं गुस्सा नहीं हूं, मैं गुस्से को अपनी ज़िंदगी में दख़ल नहीं देने देता। मैंने अब तक की ज़िंदगी में किसी पुरुष या महिला से लड़ाई नहीं की है। हमारे तलाक के दौरान भी कोई झगड़ा नहीं हुआ था, मैं और मेरे करीबियों ने हमेशा शांति चुनी है।

{ यह भी पढ़ें:- पूनम पांडे ने लगाया बोल्डनेस का तड़का, बिकनी पहन उतरी पूल में }

मैं यहां किसी को जज करने या किसी पर आरोप लगाने नहीं आया हूं। मैं सिर्फ सच बताना चाहता हूं क्योंकि अगर सच छिपाया जाता है कि इसका सब पर बुरा असर पड़ता है। समाज पर, परिवारों पर और बच्चों पर।

बता दें कि कंगना ने हाल में एक निजी चैनल के इंटरव्यू में रितिक रोशन को लेकर कई बातों को बेबाकी से कहा था। रितिक की पूरी चिट्ठी को आप यहां पढ़ सकते हैं –