कनाडा में स्मार्टफोन कंपनी Huawei की CFO गिरफ्तार, चीन ने दी अमेरिका को चेतावनी

कनाडा में स्मार्टफोन कंपनी Huawei की CFO गिरफ्तार, चीन ने दी अमेरिका को चेतावनी
कनाडा में स्मार्टफोन कंपनी Huawei की CFO गिरफ्तार, चीन ने दी अमेरिका को चेतावनी

नई दिल्ली। कनाडा ने चीन की कंपनी हुवेई टेक्नोलॉजीज की मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) को गिरफ्तार कर लिया गया है। चीनी कंपनी हुवेई पर अमेरिका ने आरोप लगाया है कि उसने अमेरिकी प्रतिबंध का उल्लंघन किया है। अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि यह कदम अमेरिका के साथ व्यापार मोर्चे पर जारी विवाद पर युद्धविराम लगा चुके चीन को नाराज कर सकता है।

Huawei Cfo Arrested In Canada Faces Extradition To United States :

चीन की मांग- मेंग को तुरंत रिहा किया जाए

यह साफ नहीं हो पाया है कि मेंग वांगझू के खिलाफ किस तरह के आरोप हैं। कनाडा के न्याय विभाग के मुताबिक मेंग ने उनके जुड़े से जुड़े तथ्यों के प्रकाशन पर रोक की मांग की है। उनकी जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। चीन ने उनकी तुरंत रिहाई की मांग की है। मेंग हुवावे की वाइस चेयरपर्सन भी हैं। वो कंपनी के फाउंडर रेन झेंगफे की बेटी हैं। हुवाने ने मेंग की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि कंपनी को नहीं लगता कि उन्होंने कुछ गलत किया।

मेंग की गिरफ्तारी से अमेरिका और चीन के संबंधों में दरार और बढ़ सकती है। हाल ही में दोनों देशों के राष्ट्रपति जी-20 समिट में मिले थे। इस दौरान ट्रेड वॉर 90 दिन के लिए टालने पर सहमति बनी। रॉयटर्स के मुताबिक अमेरिकी संस्थाएं दो साल से हुवावे के खिलाफ जांच कर रही हैं। अमेरिका का आरोप है कि हुवावे अमेरिकी उत्पादों को ईरान भेजा। यह यूएस के निर्यात और प्रतिबंध कानून का उल्लंघन है।

क्यों हुई गिरफ्तारी?

दिलचस्प बात यह है कि संयोग से मेंग की गिरफ्तारी उसी रात हुई है जब अर्जेंटिना में आयोजित G20 शिखर सम्मेलन से इतर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग मिले थे। कनाडा के न्याय विभाग के मुताबिक मेंग की मांग पर उनसे जुड़े तथ्यों के प्रकाशन पर रोक लगी हुई है। उनकी जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। लेकिन, अमेरिका इस बात की जांच कर रहा है कि क्या हुवावे ने क्यूबा, सूडान, सीरिया और ईरान जैसे देशों पर लागू व्यापार नियंत्रण नियमों का उल्लंघन किया है। गौरतलब है की वॉल स्ट्रीट जर्नल ने वर्ष की शुरुआत में खबर दी थी कि अमेरिका चीनी कंपनी हुवावे द्वारा ईरान के खिलाफ लगे प्रतिबंधों के उल्लंघन की जांच कर रहा है।

कौन हैं मेंग वांगझू ?

मेंग वांगझू का जन्म 1972 में हुआ और उन्हें सबरीना मेंग भी कहा जाता है। अपने माता-पिता के तलाक के बाद किशोरी मेंग ने मां के उपनाम को अपनाया। मेंग हुवावे बोर्ड की डिप्टी चेयरवूमन और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) हैं, जिसे उनके पिता रेन झेंग्फी ने स्थापित किया था।मेंग ने एक बैंक के लिए काम करने के लिए स्कूल छोड़ा। एक साल बाद 1993 में एक सचिव के रूप में पिता द्वारा स्थापित छोटी स्टार्टअप कंपनी हुवावे में शामिल हो गईं। बाद में उन्होंने ह्यूजोंग विश्वविद्यालय से विज्ञान और प्रौद्योगिकी से मास्टर की डिग्री अर्जित की।

उन्होंने हुवावो में कई शीर्ष पदों पर काम किया। फिलहाल वो हुवावे की डिप्टी चेयरमैन और सीएफओ हैं। 1.8 लाख कर्मचारियों के साथ हुवावे चीन की सबसे बड़ी निजी कंपनी है। 2017 में, फोर्ब्स ने चीन की टॉप बिजनेस वूमन की सूची में मेंग को आठवें नंबर पर रखा था।

नई दिल्ली। कनाडा ने चीन की कंपनी हुवेई टेक्नोलॉजीज की मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) को गिरफ्तार कर लिया गया है। चीनी कंपनी हुवेई पर अमेरिका ने आरोप लगाया है कि उसने अमेरिकी प्रतिबंध का उल्लंघन किया है। अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि यह कदम अमेरिका के साथ व्यापार मोर्चे पर जारी विवाद पर युद्धविराम लगा चुके चीन को नाराज कर सकता है।

चीन की मांग- मेंग को तुरंत रिहा किया जाए

यह साफ नहीं हो पाया है कि मेंग वांगझू के खिलाफ किस तरह के आरोप हैं। कनाडा के न्याय विभाग के मुताबिक मेंग ने उनके जुड़े से जुड़े तथ्यों के प्रकाशन पर रोक की मांग की है। उनकी जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। चीन ने उनकी तुरंत रिहाई की मांग की है। मेंग हुवावे की वाइस चेयरपर्सन भी हैं। वो कंपनी के फाउंडर रेन झेंगफे की बेटी हैं। हुवाने ने मेंग की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि कंपनी को नहीं लगता कि उन्होंने कुछ गलत किया।मेंग की गिरफ्तारी से अमेरिका और चीन के संबंधों में दरार और बढ़ सकती है। हाल ही में दोनों देशों के राष्ट्रपति जी-20 समिट में मिले थे। इस दौरान ट्रेड वॉर 90 दिन के लिए टालने पर सहमति बनी। रॉयटर्स के मुताबिक अमेरिकी संस्थाएं दो साल से हुवावे के खिलाफ जांच कर रही हैं। अमेरिका का आरोप है कि हुवावे अमेरिकी उत्पादों को ईरान भेजा। यह यूएस के निर्यात और प्रतिबंध कानून का उल्लंघन है।क्यों हुई गिरफ्तारी?दिलचस्प बात यह है कि संयोग से मेंग की गिरफ्तारी उसी रात हुई है जब अर्जेंटिना में आयोजित G20 शिखर सम्मेलन से इतर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग मिले थे। कनाडा के न्याय विभाग के मुताबिक मेंग की मांग पर उनसे जुड़े तथ्यों के प्रकाशन पर रोक लगी हुई है। उनकी जमानत पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। लेकिन, अमेरिका इस बात की जांच कर रहा है कि क्या हुवावे ने क्यूबा, सूडान, सीरिया और ईरान जैसे देशों पर लागू व्यापार नियंत्रण नियमों का उल्लंघन किया है। गौरतलब है की वॉल स्ट्रीट जर्नल ने वर्ष की शुरुआत में खबर दी थी कि अमेरिका चीनी कंपनी हुवावे द्वारा ईरान के खिलाफ लगे प्रतिबंधों के उल्लंघन की जांच कर रहा है।कौन हैं मेंग वांगझू ?मेंग वांगझू का जन्म 1972 में हुआ और उन्हें सबरीना मेंग भी कहा जाता है। अपने माता-पिता के तलाक के बाद किशोरी मेंग ने मां के उपनाम को अपनाया। मेंग हुवावे बोर्ड की डिप्टी चेयरवूमन और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) हैं, जिसे उनके पिता रेन झेंग्फी ने स्थापित किया था।मेंग ने एक बैंक के लिए काम करने के लिए स्कूल छोड़ा। एक साल बाद 1993 में एक सचिव के रूप में पिता द्वारा स्थापित छोटी स्टार्टअप कंपनी हुवावे में शामिल हो गईं। बाद में उन्होंने ह्यूजोंग विश्वविद्यालय से विज्ञान और प्रौद्योगिकी से मास्टर की डिग्री अर्जित की।उन्होंने हुवावो में कई शीर्ष पदों पर काम किया। फिलहाल वो हुवावे की डिप्टी चेयरमैन और सीएफओ हैं। 1.8 लाख कर्मचारियों के साथ हुवावे चीन की सबसे बड़ी निजी कंपनी है। 2017 में, फोर्ब्स ने चीन की टॉप बिजनेस वूमन की सूची में मेंग को आठवें नंबर पर रखा था।