पत्नी को दिया बेटे के शरीर के टुकड़े से भरा बैग

औरंगाबाद| औरंगाबाद में पत्नी को अपने बेटे के टुकड़ों से भरा बैग देने वाले एक मछुआरे को पुलिस ने गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी मधुकर वानखेड़े का दावा है कि उसके चार वर्षीय बच्चे की ट्रेन के नीचे आ जाने से मौत हो गई।




औरंगाबाद से 35 किलोमीटर दूर शिलेगांव पुलिस थाने में तैनात जांच अधिकारी संदीप ए. काले ने बताया कि मामला प्रकाश में तब आया जब महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। वानखेड़े का सोमवार की रात पत्नी पुष्पा से काफी झगड़ा हुआ था। इसके बाद उसने बेटे ओम को साथ लिया और घर से यह कहते हुए निकल गया कि अब वह कभी नहीं लौटेगा।

हालांकि कुछ ही घंटों के बाद वह अकेला लौट आया। जब पुष्पा ने उससे अपने बेटे के बारे में पूछा तो वह दोबारा बाहर चला गया। जब वह लौटा तो उसने एक प्लास्टिक का थैला ले रखा था, जिसमें उसके बेटे के शरीर के टुकड़े रखे हुए थे। उसने कहा कि ओम की ट्रेन के नीचे आ जाने से मौत हो गई।

काले ने बताया, “उसने बताया कि वह अपने बेटे के साथ ट्रेन की पटरी के किनारे-किनारेजा रहा था, तभी अंधेरे में ओम उसके हाथ से फिसलकर पटरी पर जा गिरा और गुजर ही ट्रेन के नीचे आ गया।” मधुकर को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। उसने हालांकि अपने बेटे की हत्या से इनकार किया है। स्थानीय अदालत ने उसे शुक्रवार तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।