हैदराबाद एनकाउंटर पर बोेले अखिलेश-आखिर कानून से भागने वाले… इंसाफ से कितनी दूर भागते

akhilesh yadav
हैदराबाद एनकाउंटर: अखिलेश बोेले आख़िर क़ानून से भागनेवाले... इंसाफ़ से कितनी दूर भागते

लखनऊ। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले सभी आरोपियों के ​एनकाउंटर के मामले में सपा प्रमुख व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होने ट्वीट करते हुए कहा कि आखिर कानून से भागने वाले इंसाफ से कितनी दूर भाग सकते थे। वहीं उन्होने यह भी कहा कि ऐसे अपराधों के लिए कड़े कानून बनाये जायें साथ ही समाज का वातावरण सुरक्षित बने जिससे बहन बेटियां महफूज रह सकें।

Hyderabad Encounter Akhilesh Said Finally Run Away From The Law How Far Does He Run From Justice :

 

आपको बतां दे कि हैदराबाद में हुई दरिंदगी की घटना के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा था कि भारत में महिलाओं के लिए अपने घर से बाहर कदम रखना, अध्ययन करना, आवागमन करना, काम करना और रोजमर्रा की अन्य गतिविधियाँ एक भयानक प्रक्रिया बन जाती हैं। उन्होने गैंगरेप पीड़िता महिला डॉक्टर, निर्भया, फातिमा के बारे में ​कहा था कि यह बड़े दुख की बात है कि आज की दुनिया में एक महिला को जन्म के लिए इतनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ी।

गौरतलब है कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद में महिला डॉक्टर की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गयी थी। शव मिलने के बाद लगातार लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे थे। पीड़ित परिवार ने भी आरोपियों को गोली मारने और जलाने की मांग की थी। आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में हाजिर किया तो 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया लेकिन पुलिस ने आरोपियो को 7 दिन के रिमांड पर ले लिया। शुक्रवार भोर पुलिस उसी घटना स्थल पर आरोपियों को ले गयी जहां महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत हुई थी। क्राइम सीन चल रहा था तभी आरोपियों ने भागने का प्रयास किया और इसी दौरान एनकाउंटर कर दिया गया।

लखनऊ। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले सभी आरोपियों के ​एनकाउंटर के मामले में सपा प्रमुख व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होने ट्वीट करते हुए कहा कि आखिर कानून से भागने वाले इंसाफ से कितनी दूर भाग सकते थे। वहीं उन्होने यह भी कहा कि ऐसे अपराधों के लिए कड़े कानून बनाये जायें साथ ही समाज का वातावरण सुरक्षित बने जिससे बहन बेटियां महफूज रह सकें।   आपको बतां दे कि हैदराबाद में हुई दरिंदगी की घटना के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा था कि भारत में महिलाओं के लिए अपने घर से बाहर कदम रखना, अध्ययन करना, आवागमन करना, काम करना और रोजमर्रा की अन्य गतिविधियाँ एक भयानक प्रक्रिया बन जाती हैं। उन्होने गैंगरेप पीड़िता महिला डॉक्टर, निर्भया, फातिमा के बारे में ​कहा था कि यह बड़े दुख की बात है कि आज की दुनिया में एक महिला को जन्म के लिए इतनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ी। गौरतलब है कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद में महिला डॉक्टर की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गयी थी। शव मिलने के बाद लगातार लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे थे। पीड़ित परिवार ने भी आरोपियों को गोली मारने और जलाने की मांग की थी। आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में हाजिर किया तो 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया लेकिन पुलिस ने आरोपियो को 7 दिन के रिमांड पर ले लिया। शुक्रवार भोर पुलिस उसी घटना स्थल पर आरोपियों को ले गयी जहां महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत हुई थी। क्राइम सीन चल रहा था तभी आरोपियों ने भागने का प्रयास किया और इसी दौरान एनकाउंटर कर दिया गया।