हैदराबाद दरिंदगी: आरोपियों के एनकाउंटर पर बोलीं जया- बहुत देर हो गई, देर आए दुरुस्त आए

Jaya spoke on the encounter of the accused
हैदराबाद दरिंदगी: आरोपियों के एनकाउंटर पर बोलीं जया- बहुत देर हो गई, देर आए दुरुस्त आए

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद व फिल्म अभिनेत्री जया बच्चन ने संसद में हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों को भीड़ के हवाले करने की वकालत की थी। आज जब सुबह उन्हे पता चला कि गैंगरेप के आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार दिया तो उन्होने कहा ‘बहुत देर हो गई ‘देर आए दुरुस्त आए’।

Hyderabad Rape Jaya Spoke On The Encounter Of The Accused Its Too Late Better Late Than Never :

जब जया बच्चन ने संसद में आरोपियों की लिंचिंग करने की वकालत की थी तो सोशल मीडिया पर उनका ये बयान काफी वायरल हुआ था वहीं कुछ लोगों ने बयान के बाद विवाद भी खड़े किये थे। शुक्रवार भोर चारो आरोपियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई तो चारों मार गिराये गये। जब जया से इस बारे में पूछा गया तो उन्होने कहा कि बहुत देर तो हो गई लेकिन देर से ही सही जो हुआ अच्छा हुआ है। हालांकि इस दौरान जब उनसे दूसरे रेप की घटनाओं पर भी ऐसी सजा देने की बात पूछी गयी तो उन्होने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया।

आपको बता दें कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के साथ चारों आरोपियों ने गैंगरेप किया था और घटना के सबूत मिटाने के लिए उसकी हत्या करके उसे जलाकर सड़क के किनारे फेंक दिया था। 28 नवंबर को महिला डॉक्टर का शव मिला तो पूरे देश में आक्रोश मच गया। हालांकि हैदराबाद पुलिस ने चारों आरोपियों को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया था लेकिन लोगों की मांग थी कि ऐसे आरोपियों को तुरंत मार देना चाहिए। कोर्ट में जब आरोपियों को पेस किया ​गया तो कोर्ट ने उन्हे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था, बाद में पुलिस ने रिमांड मांगी तो 7 दिन की रिमांड मिली। हैदराबाद पुलिस जब शुक्रवार भोर क्राईम सीन के लिए घटना स्थल पर ले गये तो आरोपियों ने भागने की कोशिश की और उसी दौरान उनका एनकाउंटर कर दिया गया।

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद व फिल्म अभिनेत्री जया बच्चन ने संसद में हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों को भीड़ के हवाले करने की वकालत की थी। आज जब सुबह उन्हे पता चला कि गैंगरेप के आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार दिया तो उन्होने कहा 'बहुत देर हो गई 'देर आए दुरुस्त आए'। जब जया बच्चन ने संसद में आरोपियों की लिंचिंग करने की वकालत की थी तो सोशल मीडिया पर उनका ये बयान काफी वायरल हुआ था वहीं कुछ लोगों ने बयान के बाद विवाद भी खड़े किये थे। शुक्रवार भोर चारो आरोपियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई तो चारों मार गिराये गये। जब जया से इस बारे में पूछा गया तो उन्होने कहा कि बहुत देर तो हो गई लेकिन देर से ही सही जो हुआ अच्छा हुआ है। हालांकि इस दौरान जब उनसे दूसरे रेप की घटनाओं पर भी ऐसी सजा देने की बात पूछी गयी तो उन्होने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया। आपको बता दें कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के साथ चारों आरोपियों ने गैंगरेप किया था और घटना के सबूत मिटाने के लिए उसकी हत्या करके उसे जलाकर सड़क के किनारे फेंक दिया था। 28 नवंबर को महिला डॉक्टर का शव मिला तो पूरे देश में आक्रोश मच गया। हालांकि हैदराबाद पुलिस ने चारों आरोपियों को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया था लेकिन लोगों की मांग थी कि ऐसे आरोपियों को तुरंत मार देना चाहिए। कोर्ट में जब आरोपियों को पेस किया ​गया तो कोर्ट ने उन्हे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था, बाद में पुलिस ने रिमांड मांगी तो 7 दिन की रिमांड मिली। हैदराबाद पुलिस जब शुक्रवार भोर क्राईम सीन के लिए घटना स्थल पर ले गये तो आरोपियों ने भागने की कोशिश की और उसी दौरान उनका एनकाउंटर कर दिया गया।