कर्नाटक : रोते हुए बोले सीएम कुमारस्वामी, पी रहा हूं गठबंधन का विष

cm hd kumarswamy
कर्नाटक : रोते हुए बोले सीएम कुमारस्वामी, पी रहा हूं गठबंधन का विष

I Am Swallowing Poison Of Coalition Government Says Kumarswami

बेंगलूरू। कर्नाटक् में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के बाद मुख्यमंत्री पद संभालने वाले कुमारस्वामी खुश नही है। पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित एक सम्मान समारोह में हुए सीएम कुमारस्वामी ने कहा कि वह सत्ता में तो हैं लेकिन इसके लिए उन्हें नीलकंठ की तरह विष पीना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, ”मैं जानता हूं कि मैं मुख्यमंत्री बना इसकी वजह से आप खुश हैं लेकिन मैं खुश नहीं हूं। मैं भगवान नीलकंठ की तरह विष पी रहा हूं।” यह कहते कहते सीएम की आंखें भर आई.

कुमारस्वामी ने आगे कहा, ”यह सच है कि मैं चुनाव से पहले मुख्यमंत्री बनना चाहता था और मैंने कई वायदे किये। आज लोग खुश हैं लेकिन मैं मुख्यमंत्री बनकर खुश नहीं हूं। अगर मैं चाहूं तो मैं मुख्यमंत्री पद से त्याग दे सकता हूं। आज हम जहां भी जाते हैं लोग स्वागत करते हैंं। लोग कहते हैं कि किसानों की कर्जमाफी से वह खुश हैं। लेकिन मुझे दुख है कि उन्होंने हमारी पार्टी (जेडीएस) को पूर्ण बहुत से नहीं जिताया। लोग हमसे प्यार करते हैं।”

बता दें कि सीएम एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में 2018—19 का बजट पेश करते हुए घोषणा की थी कि मैं कृषि से जुड़े 34 हजार करोड़ रूपए तक के कर्ज को माफ करूंगा, जिससे हर किसान के परिवार के दो लाख रूपए तक के कर्ज माफ हो जाएंगे। बाद में कर्नाटक सरकार ने किसानों का कर्ज माफ कर दिया।

बता दें कि कुमारस्वामी के इस दर्द की वजह मंत्री पद के बंटवारे को लेकर है। कांग्रेस ने ज्यादा सीटे होने के बावजूद भी उन्हे सीएम बनाया और फिर मंत्रीमंडल में अपने लोगों को बैठाने का दबाव बनाया, जिसको लेकर कुमारस्वामी काफी दुखी है। ये झगड़ा सुलझाने के लिए कुमारस्वामी और राहुल गांधी की कई बार मुलाकात भी हो चुकी है, लेकिन इसका कोई निष्कर्ष नही निकला, जिसके चलते उन्होने विष पीने की बात कही है।

बेंगलूरू। कर्नाटक् में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के बाद मुख्यमंत्री पद संभालने वाले कुमारस्वामी खुश नही है। पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित एक सम्मान समारोह में हुए सीएम कुमारस्वामी ने कहा कि वह सत्ता में तो हैं लेकिन इसके लिए उन्हें नीलकंठ की तरह विष पीना पड़ रहा है। उन्होंने कहा, ''मैं जानता हूं कि मैं मुख्यमंत्री बना इसकी वजह से आप खुश हैं लेकिन मैं खुश नहीं हूं। मैं भगवान नीलकंठ की तरह विष पी रहा हूं।'' यह कहते कहते…