1. हिन्दी समाचार
  2. मनोरंजन
  3. मैं उसे आवाजें लगाती रही लेकिन वो बस बेसुध बैठी थी, Jasleen ने बताया Shahnaz का हाल

मैं उसे आवाजें लगाती रही लेकिन वो बस बेसुध बैठी थी, Jasleen ने बताया Shahnaz का हाल

बिग बॉस 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) का 2 सितंबर को निधन को गया था। जिसके बाद उनके फैंस और उनके परिवार को गहरा सदमा लगा है लेकिन अगर हम सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) की फ्रेंड शहनाज़ गिल (Shahnaz Gill) की बात करें तो उन्हे एक गहरे सदमें से उबर नहीं पा रहीं। सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) के घर वे लोग पहुंच रहे हैं जो उन्हें नजदीक से जानते थे। सिद्धार्थ की मां और शहनाज़ गिल (Shahnaz Gill) की सभी को फिक्र है कि वे पहाड़ जैसे दु:ख का सामना कैसे करेंगे।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: बिग बॉस 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) का 2 सितंबर को निधन को गया था। जिसके बाद उनके फैंस और उनके परिवार को गहरा सदमा लगा है लेकिन अगर हम सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) की फ्रेंड शहनाज़ गिल (Shahnaz Gill) की बात करें तो उन्हे एक गहरे सदमें से उबर नहीं पा रहीं। सिद्धार्थ शुक्ला  (Siddharth Shukla) के घर वे लोग पहुंच रहे हैं जो उन्हें नजदीक से जानते थे। सिद्धार्थ की मां और शहनाज़ गिल (Shahnaz Gill) की सभी को फिक्र है कि वे पहाड़ जैसे दु:ख का सामना कैसे करेंगे।

पढ़ें :- Sidharth Shukla Death के बाद Shahnaz Gill की हुई ऐसी हालत, VIDEO देख बोले फैंस -Stay Strong Sana
Jai Ho India App Panchang

अंतिम संस्कार में थी साथ

शहनाज़ तो सिद्धार्थ के अंतिम समय में उसके साथ थी। पिछले दिनों जसलीन मथारू भी सिद्धार्थ के घर पहुंची। जसलीन भी बिग बॉस शो का हिस्सा रह चुकी हैं और भजन सम्राट अनूप जलोटा के साथ उनकी नजदीकियों ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। शहनाज़ और सिद्धार्थ की मां की हालत देख जसलीन इतनी दु:खी हो गईं कि उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। जसलीन का कहना है कि पहले कभी उन्हें इतना दु:ख नहीं पहुंचा था।

जसलीन ने कहा मैंने शहनाज गिल सेबात करने की कोशिश की। मैं उसे आवाजें लगा रही थीं, लेकिन वो आवाजें शायद शहनाज तक पहुंच नहीं पा रही थीं। शहनाज गिल ने मुझसे कोई बात नहीं की। वो बस गुमसुम बैठी थी। उसकी हालत वाकई बहुत खराब है।


वह अपनी दुनिया में खो चुकी है। ऐसा लग रहा था जैसे उसे कुछ याद आ जाता था जैसे फ्लैश आते हैं वैसा ही कुछ था।। मैंने उसे कुछ खाने और कुछ देर सोने के लिए कहा।
जसलीन ने बताया था कि मैंने सिद्धार्थ शुक्ला के परिवार के साथ 2 घंटे का समय बिताया। उनके परिवार का कोई भी सदस्य कुछ बोल पाने की हालत में नहीं है। सिद्धार्थ की मां बहुत बहादुर है। वो इस समय भी खुद को संभालने की कोशिश कर रही हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...