सिद्दरमैया का दावा- जनता के आशीर्वाद से दोबारा बनूंगा मुख्‍यमंत्री

सिद्दरमैया का दावा- जनता के आशीर्वाद से दोबारा बनूंगा मुख्‍यमंत्री
सिद्दरमैया का दावा- जनता के आशीर्वाद से दोबारा बनूंगा मुख्‍यमंत्री

नई दिली। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया के फिर से मुख्यमंत्री बनने की चाहत वाले बयान से राज्य की राजनीति में हलचल हो गई है हासन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सिद्धारमैया ने मुख्यमंत्री बनने की अपनी इच्छा जाहिर की।

I Wish To Become Cm Again I Am Confident That People Will Bless Me Say Siddaramaiah :

उन्होंने कहा कि राजनीति में हार-जीत होती रहती है और जनता के आशीर्वाद से वह एक बार फिर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्‍होंने कहा, ‘मैंने सोचा जनता की आशीर्वाद से दूसर बार भी मैं मुख्‍यमंत्री बनूंगा। दुर्भाग्‍य से मैं हार गया लेकिन यह आखिरी बार नहीं। राजनीति में जीत और हार सामान्‍य बात है।’

बता दें कि फिलहाल कर्नाटक में जेडी (एस) और कांग्रेस गठबंधन की सरकार है। हालांकि सूबे में गठबंधन की सरकार बनने के बाद से ही दोनों दलों के बीच मतभेद की बातें सामने आती रही हैं। माना जा रहा है कि सिद्धारमैया खेमे के कुछ विधायक इस खींचतान के लिए जिम्मेदार हैं।

गठबंधन सरकार की अगुवाई कर रहे सीएम एचडी कुमारस्वामी ने पिछले दिनों एक बयान दिया था कि वह गठबंधन सरकार की पीड़ा जानते हैं। उन्होंने दुखी स्वर में कहा था कि वह इस पीड़ा को निगल गए हैं। इस दौरान कुमारस्वामी ने कहा था कि गठबंधन की इस सरकार में जो कुछ भी चल रहा है उससे वह खुश नहीं हैं।

नई दिली। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया के फिर से मुख्यमंत्री बनने की चाहत वाले बयान से राज्य की राजनीति में हलचल हो गई है हासन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सिद्धारमैया ने मुख्यमंत्री बनने की अपनी इच्छा जाहिर की।उन्होंने कहा कि राजनीति में हार-जीत होती रहती है और जनता के आशीर्वाद से वह एक बार फिर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्‍होंने कहा, ‘मैंने सोचा जनता की आशीर्वाद से दूसर बार भी मैं मुख्‍यमंत्री बनूंगा। दुर्भाग्‍य से मैं हार गया लेकिन यह आखिरी बार नहीं। राजनीति में जीत और हार सामान्‍य बात है।’बता दें कि फिलहाल कर्नाटक में जेडी (एस) और कांग्रेस गठबंधन की सरकार है। हालांकि सूबे में गठबंधन की सरकार बनने के बाद से ही दोनों दलों के बीच मतभेद की बातें सामने आती रही हैं। माना जा रहा है कि सिद्धारमैया खेमे के कुछ विधायक इस खींचतान के लिए जिम्मेदार हैं।गठबंधन सरकार की अगुवाई कर रहे सीएम एचडी कुमारस्वामी ने पिछले दिनों एक बयान दिया था कि वह गठबंधन सरकार की पीड़ा जानते हैं। उन्होंने दुखी स्वर में कहा था कि वह इस पीड़ा को निगल गए हैं। इस दौरान कुमारस्वामी ने कहा था कि गठबंधन की इस सरकार में जो कुछ भी चल रहा है उससे वह खुश नहीं हैं।