तानाशाही : पीएम के काफिले की तलाशी लेने वाले अधिकारी को EC ने किया सस्पेंड

ias officer suspend
तानाशाही : पीएम के काफिले की तलाशी लेने वाले अधिकारी को EC ने किया सस्पेंड

नई दिल्ली। कर्नाटक में पीएम मोदी के काफिले की गाड़ी की तलाशी लेने का प्रयास करने वाले आईएएस अधिकारी पर आखिरकार गाज गिर ही गई। चुनाव आयोग ने ये दुस्साहस करने वाले अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। इस अधिकारी का नाम मोहम्मद मोहसिन है, उन्हें संबलपुर में जनरल ऑब्जर्वर के तौर पर नियुक्त किया गया था।

Ias Officer Suspended For Checking Prime Minister Convoy :

बता दें कि मंगलवार को पीएम मोदी का ओडिशा के संबलपुर में चुनावी दौरे का कार्यक्रम था। तभी मोहम्मद मोहसिन ने पीएम मोदी के काफिले की तलाशी लेने की कोशिश की. इस बात को लेकर पीएमओ ने चुनाव आयोग से शिकायत की।

बाद में चुनाव आयोग को एसपीजी सुरक्षा के बावजूद तलाशी लेने की जानकारी मिली और चुनाव आयोग ने निर्देशों के उल्लंघन इस अधिकारी को निलंबित कर दिया है। कहा जा रहा है कि निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों से अलग अधिकारी ने कार्रवाई की थी। चुनाव आयोग के निर्देशों के मुताबिक जिन लोगों को एसपीजी सुरक्षा प्राप्त होती है, उन्हे इस जांच से छूट दी जाती है।

बता दें कि मोहम्मद मोहसिन पटना के रहने वाले हैं और कर्नाटक सरकार में सोशल वेलफेयर विभाग में सचिव हैं। उन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से एम कॉम की पढ़ाई की है और साल 1994 में वो यूपीएससी सिविल सर्विसेज की पढ़ाई करने दिल्ली आए थे और 1996 में आईएएस बनें।

नई दिल्ली। कर्नाटक में पीएम मोदी के काफिले की गाड़ी की तलाशी लेने का प्रयास करने वाले आईएएस अधिकारी पर आखिरकार गाज गिर ही गई। चुनाव आयोग ने ये दुस्साहस करने वाले अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। इस अधिकारी का नाम मोहम्मद मोहसिन है, उन्हें संबलपुर में जनरल ऑब्जर्वर के तौर पर नियुक्त किया गया था। बता दें कि मंगलवार को पीएम मोदी का ओडिशा के संबलपुर में चुनावी दौरे का कार्यक्रम था। तभी मोहम्मद मोहसिन ने पीएम मोदी के काफिले की तलाशी लेने की कोशिश की. इस बात को लेकर पीएमओ ने चुनाव आयोग से शिकायत की। बाद में चुनाव आयोग को एसपीजी सुरक्षा के बावजूद तलाशी लेने की जानकारी मिली और चुनाव आयोग ने निर्देशों के उल्लंघन इस अधिकारी को निलंबित कर दिया है। कहा जा रहा है कि निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों से अलग अधिकारी ने कार्रवाई की थी। चुनाव आयोग के निर्देशों के मुताबिक जिन लोगों को एसपीजी सुरक्षा प्राप्त होती है, उन्हे इस जांच से छूट दी जाती है। बता दें कि मोहम्मद मोहसिन पटना के रहने वाले हैं और कर्नाटक सरकार में सोशल वेलफेयर विभाग में सचिव हैं। उन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से एम कॉम की पढ़ाई की है और साल 1994 में वो यूपीएससी सिविल सर्विसेज की पढ़ाई करने दिल्ली आए थे और 1996 में आईएएस बनें।