आईबी की रिपोर्ट: आतंकियों के निशाने पर आरएसएस के नेता और कार्यालय, बढ़ाई गई सुरक्षा

mohan bhagwat
आईबी की रिपोर्ट: आतंकियों के निशाने पर आरएसएस के नेता और कार्यालय, बढ़ाई गई सुरक्षा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यालय और संगठन के बड़े नेताओं को आतंकवादी संगठन अपना निशाना बना सकते हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) हाल की रिपोर्ट में ये इनपुट मिले हैं। रिपोर्ट के अनुसार आरएसएस के नेता और विभिन्न कार्यालयों को आतंकी निशाना बना सकते हैं। वैश्विक आतंकवादी संगठन हमले को अंजाम देने के लिए आईईडी का उपयोग कर सकते हैं।

Ib Report Rss Leaders And Offices Targeted By Terrorists Security Increased :

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि महाराष्ट्र के नागपुर में आरएसएस मुख्यालय, पंजाब और राजस्थान में आतंकी हमले हो सकते हैं। इस महीने जारी किए गए नवीनतम इनपुट में दावा किया गया है कि किसी वैश्विक आतंकी संगठन से जुड़े हुए अज्ञात व्यक्ति आने वाले दिनों में आईईडी या वीबी-आईईडी का उपयोग करके आरएसएस कार्यालयों व नेताओं और पुलिस स्टेशनों को निशाना बनाने की योजना बना रहे हैं।

सूत्रों ने दावा किया है कि इसे लेकर सभी राज्य सरकारों को सतर्क कर दिया गया है। साथ ही उन्हें सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाने के लिए भी कहा गया है। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने दावा किया कि महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, यूपी और असम समेत अन्य राज्यों में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और पदाधिकारियों की सुरक्षा की भी समीक्षा की जा रही है। आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमले की रिपोर्ट की कई उदाहरण हैं।

बता दें कि महीने, बेंगलुरू पुलिस ने दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून 2019 (सीएए) के समर्थन में एक रैली में भाग लेने गए आरएसएस कार्यकर्ता को मारने की कोशिश करने के आरोप में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। आरएसएस कार्यकर्ता वरुण बोपला को इन्होंने चाकू मार दिया था। आरोपियों की पहचान मोहम्मद इरफान, सैयद अकबर, सैयद सिद्दीक अकबर, अकबर बाशा, सनाउल्ला शरीफ और सादिक उल-अमीन के तौर पर हुई थी। पुलिस ने दावा किया था कि इन्होंने एक बड़ी साजिश रची थी।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यालय और संगठन के बड़े नेताओं को आतंकवादी संगठन अपना निशाना बना सकते हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) हाल की रिपोर्ट में ये इनपुट मिले हैं। रिपोर्ट के अनुसार आरएसएस के नेता और विभिन्न कार्यालयों को आतंकी निशाना बना सकते हैं। वैश्विक आतंकवादी संगठन हमले को अंजाम देने के लिए आईईडी का उपयोग कर सकते हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि महाराष्ट्र के नागपुर में आरएसएस मुख्यालय, पंजाब और राजस्थान में आतंकी हमले हो सकते हैं। इस महीने जारी किए गए नवीनतम इनपुट में दावा किया गया है कि किसी वैश्विक आतंकी संगठन से जुड़े हुए अज्ञात व्यक्ति आने वाले दिनों में आईईडी या वीबी-आईईडी का उपयोग करके आरएसएस कार्यालयों व नेताओं और पुलिस स्टेशनों को निशाना बनाने की योजना बना रहे हैं। सूत्रों ने दावा किया है कि इसे लेकर सभी राज्य सरकारों को सतर्क कर दिया गया है। साथ ही उन्हें सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाने के लिए भी कहा गया है। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने दावा किया कि महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, यूपी और असम समेत अन्य राज्यों में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और पदाधिकारियों की सुरक्षा की भी समीक्षा की जा रही है। आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमले की रिपोर्ट की कई उदाहरण हैं। बता दें कि महीने, बेंगलुरू पुलिस ने दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून 2019 (सीएए) के समर्थन में एक रैली में भाग लेने गए आरएसएस कार्यकर्ता को मारने की कोशिश करने के आरोप में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। आरएसएस कार्यकर्ता वरुण बोपला को इन्होंने चाकू मार दिया था। आरोपियों की पहचान मोहम्मद इरफान, सैयद अकबर, सैयद सिद्दीक अकबर, अकबर बाशा, सनाउल्ला शरीफ और सादिक उल-अमीन के तौर पर हुई थी। पुलिस ने दावा किया था कि इन्होंने एक बड़ी साजिश रची थी।