WC2019: श्रीलंका का आरोप- हमारे लिए बना खराब पिच, नहीं मिला स्विमिंग पूल और प्रेक्टिस नेट

shrilanka
WC2019: श्रीलंका का आरोप- हमारे लिए बना खराब पिच, नहीं मिला स्विमिंग पूल और प्रेक्टिस नेट

नई दिल्ली। श्रीलंका टीम के मैनेजर अशांता डे मेल ने आईसीसी से इंग्लैंड में जारी विश्व कप में खराब पिचें और खराब ट्रेनिंग व्यवस्था को लेकर शिकायत की है। श्रीलंकाई टीम के मैनेजर असंथा डे मेल का कहना है कि उनकी टीम को कार्डिफ में दो हरी पिचों पर खेलना पड़ा था, जहां काफी लो-स्कोरिंग मैच हुए।

Icc World Cup 2019 Sri Lanka Team Have Complained To Organisers About The Pitches :

जबकि दूसरी टीमों को उसी वेन्यू पर दूसरी पिचों पर मैच खिलाया जा रहा है, जहां उन्हें हाई स्कोरिंग मैच मिल रहे हैं। डे मेल का कहना है कि शनिवार को होने वाला श्रीलंका का ऑस्ट्रेलिया से होने वाला अगला मैच भी हरी पिच पर ही होना है।

आईसीसी का व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पहले मैच में उसे कार्डिफ में और उसके बाद अफगानिस्तान वाले मैच में आईसीसी ने घास युक्त पिच तैयार की थी। उन्हीं मैदान पर दूसरी टीमों को कम घास वाली पिचें मिलीं, जिन पर बड़ा स्कोर किया जा सकता था। साथ ही उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं कि टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है तो वो शिकायत कर रही है। हालांकि यह आईसीसी का पक्षपात है कि वो किसी एक टीम के लिए अलग पिच तैयार कर रहा है और एक टीम के लिए अलग।

ट्रेनिंग फैसिलिटी भी ठीक नहीं

साथ ही उन्होंने रहने की सुविधाए, ट्रेनिंग की सुविधाओं पर भी सवाल उठाए। उनका कहना है कि कार्डिफ में प्रेक्टिस के लिए दी गई सुविधाएं भी ठीक नहीं थीं। उन्होंने आरोप लगाए कि तीन नेट की जगह उन्हें दो ही नेट दिए गए, होटल में स्विमिंग पूल नहीं थे, जो कि तेज गेंदबाज के लिए जरूरी है। वहीं जिन होटल में पाकिस्तान और बांग्लादेश को रखा गया था, वहां स्विमिंग पूल था।

नई दिल्ली। श्रीलंका टीम के मैनेजर अशांता डे मेल ने आईसीसी से इंग्लैंड में जारी विश्व कप में खराब पिचें और खराब ट्रेनिंग व्यवस्था को लेकर शिकायत की है। श्रीलंकाई टीम के मैनेजर असंथा डे मेल का कहना है कि उनकी टीम को कार्डिफ में दो हरी पिचों पर खेलना पड़ा था, जहां काफी लो-स्कोरिंग मैच हुए। जबकि दूसरी टीमों को उसी वेन्यू पर दूसरी पिचों पर मैच खिलाया जा रहा है, जहां उन्हें हाई स्कोरिंग मैच मिल रहे हैं। डे मेल का कहना है कि शनिवार को होने वाला श्रीलंका का ऑस्ट्रेलिया से होने वाला अगला मैच भी हरी पिच पर ही होना है। आईसीसी का व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पहले मैच में उसे कार्डिफ में और उसके बाद अफगानिस्तान वाले मैच में आईसीसी ने घास युक्त पिच तैयार की थी। उन्हीं मैदान पर दूसरी टीमों को कम घास वाली पिचें मिलीं, जिन पर बड़ा स्कोर किया जा सकता था। साथ ही उन्होंने कहा, 'ऐसा नहीं कि टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है तो वो शिकायत कर रही है। हालांकि यह आईसीसी का पक्षपात है कि वो किसी एक टीम के लिए अलग पिच तैयार कर रहा है और एक टीम के लिए अलग। ट्रेनिंग फैसिलिटी भी ठीक नहीं साथ ही उन्होंने रहने की सुविधाए, ट्रेनिंग की सुविधाओं पर भी सवाल उठाए। उनका कहना है कि कार्डिफ में प्रेक्टिस के लिए दी गई सुविधाएं भी ठीक नहीं थीं। उन्होंने आरोप लगाए कि तीन नेट की जगह उन्हें दो ही नेट दिए गए, होटल में स्विमिंग पूल नहीं थे, जो कि तेज गेंदबाज के लिए जरूरी है। वहीं जिन होटल में पाकिस्तान और बांग्लादेश को रखा गया था, वहां स्विमिंग पूल था।