1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कोरोना बेकाबू हुआ तो बढ़ेंगे कोरोना के नए वेरिएंट्स के खतरे : पीएम मोदी

कोरोना बेकाबू हुआ तो बढ़ेंगे कोरोना के नए वेरिएंट्स के खतरे : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर शुक्रवार को देश के 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद कर रहे हैं। इस संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जिन जिलों में संक्रमण के ज्यादा केस, वहां वैक्सीनेशन अभियान तेजी से चलाया जाए।

By संतोष सिंह 
Updated Date

If Corona Becomes Uncontrollable The Dangers Of New Variants Of Corona Will Increase Pm Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर शुक्रवार को देश के 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ संवाद कर रहे हैं। इस संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जिन जिलों में संक्रमण के ज्यादा केस, वहां वैक्सीनेशन अभियान तेजी से चलाया जाए। पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के ज्यादा केसों वाले राज्यों को संक्रमण से निपटने के लिए ‘4T’ का मंत्र दिया है। पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग के दौरान यह फॉर्मूला दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को हुई वर्चुअल मीटिंग में कहा, ‘हमें टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट और टीका की रणनीति पर फोकस करते हुए आगे बढ़ना है।

पढ़ें :- अब यूपी में केवल मोदी और योगी  के विकासवाद का युग :डा दिनेश शर्मा  

इसके साथ ही उन्होंने सुझाव दिया कि कोरोना के माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ध्यान देना जरूरी। कोरोना संकट पर प्रभावित जिलों में ज्यादा जोर देना होगा। उन्होंने कहा कि यदि कोरोना बेकाबू में नहीं हुआ तो कोरोना के नए वेरिएंट्स के खतरे बढ़ेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट पर नहीं हुआ नियंत्रण तो हालात भयावह होंगे। महाराष्ट्र और केरल में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के केस, चिंता का विषय है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत कोरोना की तीसरी लहर के मुहाने पर खड़ा है।

उन्होंने कहा कि अभी पूर्वोत्तर के राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत में पता लगा कि कई राज्यों में लॉकडाउन ही नहीं लगा, लेकिन उन्होंने माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर खास जोर दिया। इस तरह से पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों को बिना लॉकडाउन के भी कोरोना से निपटने का फॉर्मूला बताया। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिन राज्यों में केस बढ़ रहे हैं, उन्हें पहले से सक्रिय होते हुए तीसरी लहर की आशंका को रोकना होगा। उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट्स बताते हैं कि लंबे समय तक केस बढ़ने से कोरोना म्यूटेट हो सकता है और इससे नए वैरिएंट्स का खतरा बढ़ जाता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके लिए हमें वही स्ट्रेटेजी अपनानी होगी, जो पहले भी अपना चुके हैं।

ग्रामीण इलाकों पर फोकस करने की बताई जरूरत

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से भी राज्यों को ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने और आईसीयू बेड्स तैयार करने के लिए फंड मुहैया कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने हाल ही में 23 हजार करोड़ रुपये का कोविड रेस्पॉन्स बजट जारी किया है। इसका ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जाना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि हमें ग्रामीण इलाकों पर ज्यादा फोकस करने की जरूरत है।

पढ़ें :- इस राज्य की सरकार ने 2 अगस्त से 10वीं से 12वीं तक के स्कूल खोलने का दिया आदेश

यूरोप और अमेरिका में बढ़ते केसों से सबक सीखने की जरूरत

महाराष्ट्र और दक्षिण भारत के 5 राज्यों के साथ संवाद में पीएम मोदी ने कहा कि आप किसी अफसर को तैनात करें और ऑक्सीजन प्लांट्स के कामकाज को सुनिश्चित कराएं। इसके अलावा बच्चों को लेकर चिंता जाहिर करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमें उन्हें कोरोना संकट से बचाने के लिए विशेष तैयारी करनी होगी। उन्होंने कहा कि हम देख रहे हैं कि यूरोप और अमेरिका में बहुत तेजी से मामले बढ़ रहे हैं। इसके अलावा भारत के पड़ोस की बात करें तो बांग्लादेश और थाईलैंड में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। यह हमारे लिए चेतावनी है। हमें सभी को याद दिलाना है कि कोरोना हमारे बीच से अभी गया नहीं है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X