अगर फड़कने लगे शरीर का ये अंग तो समझ लो मिलने वाला है स्त्री सुख

romantic-girl-1

हमारा शरीर बहुत ही संवेदनशील होता है। इसी कारण हमारा शरीर भविष्य में होने वाली घटनाओं के पहले से ही आशंका व्यक्त कर देता है। भविष्य की घटनाओं से अवगत कराने के लिए हमारे शरीर के विभिन्न अंग फड़कने लगते है। अंगों का फड़कना ही हमे शुभ और अशुभ बातों के बारें में बताता है।

If It Starts Fluttering Then This Part Of The Body Is Going To Be Understood :

ये अंग देते है स्त्री सुख के संकेत:

अगर आपकी ठोड़ी फड़क रही है, तो समझ जाइए कि आपकी जिंदगी में  स्त्री सुख आने वाला हैं।

अगर आपके दोनों गाल फड़क रहे हैं तो फिर आपके घर में धन आने वाला है या आपकी आर्थिक स्थित मजबूत होने के संकेत है।

यदि आपको हथेली में फड़फड़ाहट का अहसास हो रहा है तो आपको किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

अगर आपकी पीठ फड़क रही है, तो समझ जाइए कि आपके सामने किसी भी तरह की परेशानी हो सकती है। इसके लिए तैयार रहें।

अगर आपकी कनपटी फड़के तो समझ जाइए कि आपकी इच्छाएं पूरी होने वाली है।

अगर मस्तक फड़के, तो समझ जाइए कि आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति की संकेत मिल रहा है।

अगर आपकी दाहिनी पलक लगातार फड़क रही है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए, क्‍योंकि ये शारीरिक कष्ट की ओर इशारा करती है।

हमारा शरीर बहुत ही संवेदनशील होता है। इसी कारण हमारा शरीर भविष्य में होने वाली घटनाओं के पहले से ही आशंका व्यक्त कर देता है। भविष्य की घटनाओं से अवगत कराने के लिए हमारे शरीर के विभिन्न अंग फड़कने लगते है। अंगों का फड़कना ही हमे शुभ और अशुभ बातों के बारें में बताता है।ये अंग देते है स्त्री सुख के संकेत:अगर आपकी ठोड़ी फड़क रही है, तो समझ जाइए कि आपकी जिंदगी में  स्त्री सुख आने वाला हैं।अगर आपके दोनों गाल फड़क रहे हैं तो फिर आपके घर में धन आने वाला है या आपकी आर्थिक स्थित मजबूत होने के संकेत है।यदि आपको हथेली में फड़फड़ाहट का अहसास हो रहा है तो आपको किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है।अगर आपकी पीठ फड़क रही है, तो समझ जाइए कि आपके सामने किसी भी तरह की परेशानी हो सकती है। इसके लिए तैयार रहें।अगर आपकी कनपटी फड़के तो समझ जाइए कि आपकी इच्छाएं पूरी होने वाली है।अगर मस्तक फड़के, तो समझ जाइए कि आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति की संकेत मिल रहा है।अगर आपकी दाहिनी पलक लगातार फड़क रही है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए, क्‍योंकि ये शारीरिक कष्ट की ओर इशारा करती है।