कश्मीरी अगर भारत के साथ खुश हैं तो वहीं रहें: अब्दुल बासित

नई दिल्ली| भारत स्थित पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा है कि यदि जम्मू-कश्मीर के लोग भारत के साथ रहकर खुश हैं तो वह वहीँ रहें| जंग से किसी भी समस्या का समाधान नहीं निकाला जा सकता|




बासित ने कहा, “युद्ध किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता है| कश्मीरियों को अपना भविष्य खुद चुनने का मौका दो। अगर वो भारत में खुश हैं तो उन्हें वहीं रहने दिया जाए|” इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान को आतंकी मुल्क कहने वाले लोगों को भी आड़े हाथो लिया| उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को आतंकी मुल्क कहना जुमलेबाजी है| हम भी ऐसा कर सकते हैं लेकिन इससे किसी भी मसले का हल नहीं निकलेगा|

बासित ने आगे कहा कि भविष्य में भारत के साथ संबंधों को लेकर पाकिस्तान का रवैया सकारात्मक और सृजनात्मक रहेगा| उन्होंने आशा व्यक्त की कि दोनों देश परिपक्वता दिखाते हुए मौजूदा संकट से उबर जाएंगे| बासित ने कहा, “जैसा कि हमारे प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र में कहा है, पाकिस्तान भारत के साथ सामान्य सहयोगात्मक संबंध चाहता है और शांतिपूर्ण तरीके से सभी मसले हल करना चाहता है|”

बासित ने कहा, “जांच एजेंसी अभी भी उड़ी हमले की जांच कर रही है जिसमें 18 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे| मैं बहुत विनम्रता के साथ सुझाव देना चाहूंगा कि जल्दबाज़ी में किसी नतीजे पर पहुंचने से कुछ नहीं होगा| हमने देखा है कि कैसे हमने पठानकोट हमले के बाद सहयोग किया था| चीज़े सही दिशा में बढ़ रहीं थीं| अगर हम वहीं भावना बरक़रार रखें तो मुझे पूरा भरोसा है कि हम हालात को बदतर होने से रोक सके हैं|”

बासित ने कहा कि पठानकोट के बाद जो सहयोग की भावना बनी थी उसे फिर सजीव करने की ज़रुरत है| मैं एक राजनयिक हूं और मैं चाहूंगा कि जीत कूटनीति की हो| मैं नहीं मानता कि द्विपक्षीय कूटनीति की गुंजायश ख़त्म हो गई है|