1. हिन्दी समाचार
  2. स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला किया तो होगी सात साल तक की सजा, मोदी सरकार लाई अध्यादेश

स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला किया तो होगी सात साल तक की सजा, मोदी सरकार लाई अध्यादेश

If The Attack On Health Workers Will Be Punished For Seven Years Modi Government Brought Ordinance

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से फ्रंट लाइन पर लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों पर लगातार हो रहे हमलों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक हुई। बैठक में स्वास्थ्यकर्मियों पर हो रहे हमलों को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की गई। केंद्र सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों के खिलाफ हिंसा को समाप्त करने के लिए सख्त प्रावधान का भी एलान किया है। सरकार इसे लेकर अध्यादेश भी लाई है। अध्यादेश में हिंसा के दोषी के लिए छह महीने से सात साल तक की सजा का प्रावधान किया गया है।

पढ़ें :- कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री को लगा झटका, इस मशहूर अभिनेत्री का शव फंदे से लटका मिला

बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इस महामारी से देश को बचाने की कोशिश कर रहे स्वास्थ्यकर्मी दुर्भाग्य से हमलों का सामना कर रहे हैं। उनके खिलाफ हिंसा या इस तरह की कोई घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एक अध्यादेश लाया गया है, इसे राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद लागू किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि महामारी रोग अधिनियम, 1897 में संशोधन कर अध्यादेश लागू किया जाएगा। ऐसा अपराध अब संज्ञेय और गैर-जमानती होगा। 30 दिनों के अंदर जांच की जाएगी। आरोपी को तीन महीने से पांच साल तक की सजा हो सकती है और दो लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गंभीर चोटों के मामले में आरोपी को छह महीने से सात साल तक की सजा हो सकती है। साथ में दोषी पर एक लाख रुपये से लेकर पांच लाख रुपये तक का जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...