भारत-पाकिस्तान में परमाणु युद्ध हुआ तो आ सकता है हिमयुग, मारे जाएंगे 10 करोड़ लोग: रिपोर्ट

nuke war
भारत-पाकिस्तान में परमाणु युद्ध हुआ तो आ सकता है हिमयुग, मारे जाएंगे 10 करोड़ लोग: रिपोर्ट

नई दिल्ली। कश्मीर मसले को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी जारी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से लेकर सेनाध्यक्ष और कई मंत्री तक भारत को परमाणु युद्ध की धमकी दे चुके हैं। इमरान खान ने तो हाल में ही हुई संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से भारत को परमाणु युद्ध की धमकी दी थी। हालांकि युद्ध के परिणाम के अनुमान को देखते हुए फिलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं दिख रही है। भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच अब एक रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि अगर भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध होता है तो 10 करोड़ से अधिक लोग मारे जाएंगे। इससे निकले विकिरण से एक दशक तक वैश्विक वायुमंडलीय तबाही जारी रहेगी। जर्नल साइंस एडवांस में प्रकाशित अध्ययन में 2025 में भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले युद्ध होने की संभावना जताई गई है। साथ ही इससे दुनियाभर में भुखमरी भी आएगी।

If There Is A Nuclear War Between India And Pakistan The Ice Age May Come 100 Million People Will Be Killed Report :

बुधवार को साइंस एडवांस में प्रकाशित एक नए अध्ययन में कहा गया कि भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध छिड़ने पर कम से कम 10 करोड़ लोग मर सकते हैं और एक दशक तक वैश्विक वायुमंडलीय तबाही मच जाएगी। हालांकि भारतीय विशेषज्ञों ने इस तरह के संघर्ष की किसी भी संभावना को खारिज कर दिया।

अध्ययन में कहा गया है कि परमाणु युद्ध के हालात में अगर भारत और पाकिस्तान क्रमशः 100 और 150 रणनीतिक हथियारों का उपयोग करते हैं तो परमाणु विस्फोटों से प्रज्वलित आग से निकले वाला धुआं 16 से 36 मिलियन टन कालिख (जो काला कार्बन है) छोड़ सकती है। यह कालिख पूरे वातावरण में फैल सकती है जिसके बेहद गंभीर परिणाम होंगे। यह कालिख जब ऊपरी वायुमंडल में फैल जाएगी तो सोलर रेडिएशन को वह ब्लॉक कर देगी। यह कालिख, सौर विकिरण को अवशोषित करेगा और हवा को गर्म करेगा, जिससे धुआं तेजी से बढ़ेगा।

इसके परिणामस्वरूप इस तरह के परमाणु युद्ध से पृथ्वी तक पहुंचने वाली सूर्य की प्रकाश की मात्रा में काफी कमी आएगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि पृथ्वी तक पहुंचने वाली धूप में 20 से 35 प्रतिशत की गिरावट होगी, जिससे हमारे पृथ्वी का सतह दो से पांच डिग्री सेल्सियस तक ठंडा हो जाएगा। ऐसी स्थिति में बारिश में भी कमी देखने को मिल सकती है। इससे धरती पर हिमयुग आ सकता है। ऐसा माना जाता है कि भारत के पास कुल 110 और पाकिस्तान के पास 130 परमाणु हथियार हैं। हालांकि, पाकिस्तान तेजी से अपनी परमाणु हथियारों की क्षमता को बढ़ा रहा है।

नई दिल्ली। कश्मीर मसले को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी जारी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से लेकर सेनाध्यक्ष और कई मंत्री तक भारत को परमाणु युद्ध की धमकी दे चुके हैं। इमरान खान ने तो हाल में ही हुई संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से भारत को परमाणु युद्ध की धमकी दी थी। हालांकि युद्ध के परिणाम के अनुमान को देखते हुए फिलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं दिख रही है। भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच अब एक रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि अगर भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध होता है तो 10 करोड़ से अधिक लोग मारे जाएंगे। इससे निकले विकिरण से एक दशक तक वैश्विक वायुमंडलीय तबाही जारी रहेगी। जर्नल साइंस एडवांस में प्रकाशित अध्ययन में 2025 में भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले युद्ध होने की संभावना जताई गई है। साथ ही इससे दुनियाभर में भुखमरी भी आएगी। बुधवार को साइंस एडवांस में प्रकाशित एक नए अध्ययन में कहा गया कि भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध छिड़ने पर कम से कम 10 करोड़ लोग मर सकते हैं और एक दशक तक वैश्विक वायुमंडलीय तबाही मच जाएगी। हालांकि भारतीय विशेषज्ञों ने इस तरह के संघर्ष की किसी भी संभावना को खारिज कर दिया। अध्ययन में कहा गया है कि परमाणु युद्ध के हालात में अगर भारत और पाकिस्तान क्रमशः 100 और 150 रणनीतिक हथियारों का उपयोग करते हैं तो परमाणु विस्फोटों से प्रज्वलित आग से निकले वाला धुआं 16 से 36 मिलियन टन कालिख (जो काला कार्बन है) छोड़ सकती है। यह कालिख पूरे वातावरण में फैल सकती है जिसके बेहद गंभीर परिणाम होंगे। यह कालिख जब ऊपरी वायुमंडल में फैल जाएगी तो सोलर रेडिएशन को वह ब्लॉक कर देगी। यह कालिख, सौर विकिरण को अवशोषित करेगा और हवा को गर्म करेगा, जिससे धुआं तेजी से बढ़ेगा। इसके परिणामस्वरूप इस तरह के परमाणु युद्ध से पृथ्वी तक पहुंचने वाली सूर्य की प्रकाश की मात्रा में काफी कमी आएगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि पृथ्वी तक पहुंचने वाली धूप में 20 से 35 प्रतिशत की गिरावट होगी, जिससे हमारे पृथ्वी का सतह दो से पांच डिग्री सेल्सियस तक ठंडा हो जाएगा। ऐसी स्थिति में बारिश में भी कमी देखने को मिल सकती है। इससे धरती पर हिमयुग आ सकता है। ऐसा माना जाता है कि भारत के पास कुल 110 और पाकिस्तान के पास 130 परमाणु हथियार हैं। हालांकि, पाकिस्तान तेजी से अपनी परमाणु हथियारों की क्षमता को बढ़ा रहा है।