अगर आपके पैरों में भी हो रहा ऐसा दर्द तो हो सकती है ये गंभीर बीमारी

pairo me dard
अगर आपके पैरों भी हो रही ऐसी दर्द तो हो सकती है गंभीर बीमारी

लखनऊ। ऑफिस में लगातार कंप्यूटर के सामने कुर्सी पर एक ही पोजिशन में बैठे रहने से पीठ, कमर और कंधे के दर्द से तो हर व्यक्ति तंग आ चुका है। लेकिन अगर आप रात में सोते समय पैरों में हो रही दर्द से भी जूझ रहें हैं तो आप इसे नज़रअंदाज़ ना करें। जिन लोगों को रात को सोते समय पैर दर्द की काफी शिकायत होती है उसकी कई वजहें हो सकती हैं। कई बार यह दर्द किसी गंभीर बीमारी के लक्षण भी पाए जाते हैं।

If There Is Such Pain In Your Legs Then There May Be A Serious Illness :

पैर में दर्द की वजह कई बार नसों से संबंधित बीमारियों के कारण होती है। इस बीमारी को पेरिफेरल न्यूरोपैथी भी कहा जाता है। ऐसा कई बार घंटों खड़े रहने की वजह से भी होता है। हालांकि पेरिफेरल न्यूरोपैथी में पैरों और पैरों की उंगलियों में दर्द या सुन्नपन बना रहता है। ये लक्षण रात को सोते समय और अक्सर सुबह भी दिखाई देते हैं।

कई बार पैरों में दर्द शुगर की बीमारी, विटामिंस की कमी, विशेष रूप से विटामिन डी की कमी, थॉयराइड, किडनी संबंधित बीमारियों के लक्षण भी हो सकते हैं। यदि पैर लगातार दर्द कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ये दर्द कई बार मोर्टोंस न्यूरोमा की वजह से भी होने लगता है। इस बीमारी में पैरों की उंगलियों तक पहुंचने वाली नसों के Tissue मोटे हो जाते हैं। इसे इंटरडिजिटल न्यूरोमा भी कहा जाता है।

ऐसा तीसरी और चौथी उंगली की हड्डियों पर दबाव पड़ने की वजह से होता है। इससे नस में सूजन, ऐंठन, सुन्नता, जलन या झुनझुनी होती है। रात के समय दर्द और ऐंठन बढ़ता और अक्सर पैर दर्द होने लगता है। कई बार ज्यादा टाइट जूते पहनने से ऊंची हील की सैंडिल पहनने से भी ये समस्या हो जाती है।

लखनऊ। ऑफिस में लगातार कंप्यूटर के सामने कुर्सी पर एक ही पोजिशन में बैठे रहने से पीठ, कमर और कंधे के दर्द से तो हर व्यक्ति तंग आ चुका है। लेकिन अगर आप रात में सोते समय पैरों में हो रही दर्द से भी जूझ रहें हैं तो आप इसे नज़रअंदाज़ ना करें। जिन लोगों को रात को सोते समय पैर दर्द की काफी शिकायत होती है उसकी कई वजहें हो सकती हैं। कई बार यह दर्द किसी गंभीर बीमारी के लक्षण भी पाए जाते हैं। पैर में दर्द की वजह कई बार नसों से संबंधित बीमारियों के कारण होती है। इस बीमारी को पेरिफेरल न्यूरोपैथी भी कहा जाता है। ऐसा कई बार घंटों खड़े रहने की वजह से भी होता है। हालांकि पेरिफेरल न्यूरोपैथी में पैरों और पैरों की उंगलियों में दर्द या सुन्नपन बना रहता है। ये लक्षण रात को सोते समय और अक्सर सुबह भी दिखाई देते हैं। कई बार पैरों में दर्द शुगर की बीमारी, विटामिंस की कमी, विशेष रूप से विटामिन डी की कमी, थॉयराइड, किडनी संबंधित बीमारियों के लक्षण भी हो सकते हैं। यदि पैर लगातार दर्द कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ये दर्द कई बार मोर्टोंस न्यूरोमा की वजह से भी होने लगता है। इस बीमारी में पैरों की उंगलियों तक पहुंचने वाली नसों के Tissue मोटे हो जाते हैं। इसे इंटरडिजिटल न्यूरोमा भी कहा जाता है। ऐसा तीसरी और चौथी उंगली की हड्डियों पर दबाव पड़ने की वजह से होता है। इससे नस में सूजन, ऐंठन, सुन्नता, जलन या झुनझुनी होती है। रात के समय दर्द और ऐंठन बढ़ता और अक्सर पैर दर्द होने लगता है। कई बार ज्यादा टाइट जूते पहनने से ऊंची हील की सैंडिल पहनने से भी ये समस्या हो जाती है।