मेट्रो न होती तो शायद शादी टूट गयी होती, कपल ने कहा थैंक यू

metro-marrige

नई दिल्ली। मेट्रो का फायदा आपने भी खूब देखा व सुना होगा लेकिन शायद ही ऐसा कुछ देखा होगा जो हम आपको बताने जा रहे हैं। कोच्चि में एक दूल्हा बारात संग जाम में फंस हुआ था नौबत यह आ गयी थी कि अगर समय पर बारात नहीं पहुंचती तो शादी टूट सकती थी लेकिन दूल्हे ने सूझ-बुझ से काम करते हुए गाड़ियों को बीच रास्ते में छोड़ मेट्रो की सवारी की जिससे वह समय पर पहुंचने में कामयाब रहा और उनकी शादी टूटते टूटते बच गयी।

दरअसल, 23 दिसंबर को रंजीथ और धान्या की शादी थी। दोनों के बीच में जाम खलनायक की तरह आकर खड़ा हो गया था। रंजीथ ने बताया कि पलक्कड़ स्थित अपने घर से सुबह छह बजे परिवार के साथ एर्नाकुलम स्थित मैरिज हाल के लिए निकले थे। 130 किमी की यह दूरी तय करने में तकरीबन साढ़े तीन घंटे का समय लगता है। जाम की वजह से अलुवा तक 100 किमी की दूरी ही तय करने में 11 बज गए। आगे और भयानक जाम था। वहां से 30 किमी की दूरी तय करना बेहद ही मुश्किल लग रहा था। कोई वैकल्पिक रास्ता भी नहीं सूझ रहा था। तभी किसी ने उन्हें सलाह दी कि बेहतर होगा कि वे लोग आगे का सफर मेट्रो से तय करें।

{ यह भी पढ़ें:- सलमान, अभिषेक सहित कई बॉलीवुड स्टार का रिश्ता केवल सगाई तक चला }

कोच्ची मेट्रो ने जारी किया इस घटना से जुड़ा वीडियो
इस बात कि जानकारी कोच्चि मेट्रो के सोशल मीडिया के आधिकारिक पेज पर है। कोच्चि मेट्रो ने अपने सोशल मीडिया के पेज पर इस कहानी का वर्णन करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया है। वीडियो में दूल्हा रंजीत कुमार अपनी पत्नी के साथ हैं। उन्होंने वीडियो के जरिये अपने शादी वाले दिन का पूरा किस्सा सुनते हुए, कोच्चि मेट्रो को धन्यवाद भी किया।

बता दें कि इसी साल के जून में कोच्चि मेट्रो शुरू हुई थी, इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। 18 किलोमीटर के रूट में कुल 16 स्टेशन बनाए गए हैं। आगे आने वाले वक्त में रूट को सात किलोमीटर और लंबा किया जाएगा, इसपर काम जारी है।

{ यह भी पढ़ें:- एक गांव जहां 27 सालों से बिना मर्दों के प्रेग्नेंट हो रहीं महिलाएं }

नई दिल्ली। मेट्रो का फायदा आपने भी खूब देखा व सुना होगा लेकिन शायद ही ऐसा कुछ देखा होगा जो हम आपको बताने जा रहे हैं। कोच्चि में एक दूल्हा बारात संग जाम में फंस हुआ था नौबत यह आ गयी थी कि अगर समय पर बारात नहीं पहुंचती तो शादी टूट सकती थी लेकिन दूल्हे ने सूझ-बुझ से काम करते हुए गाड़ियों को बीच रास्ते में छोड़ मेट्रो की सवारी की जिससे वह समय पर पहुंचने में कामयाब रहा…
Loading...