अगर आपके पास भी है दो पैनकार्ड तो हो जाए सावधान, पकड़े जाने पर लगेगा इतने हज़ार का जुर्माना

ऑनलाइन आवेदन के साथ ही अब 10 मिनट में मिलेगा निःशुल्क पैन कार्ड
ऑनलाइन आवेदन के साथ ही अब 10 मिनट में मिलेगा निःशुल्क पैन कार्ड

लखनऊ। कालेधन पर अंकुश लगाने और पैन धारकों का रिकार्ड दुरुस्त रखने के लिए पैनकार्ड की जांच की जा रही है। जिसके जरिये ये पता किया जा रहा है कि जिनके पास भी दो परमानेंट अकाउंट नंबर से पैन कार्ड हैं तो वो तुरंत एक पैनकार्ड को सरेंडर कर दें। अन्यथा आयकर अधिनियम 1961 की धारा 272 के तहत कानूनी कार्रवाई कर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगा सकती है।

If You Also Have Two Pancards Then Be Careful You Will Get So Many Thousand Fines :

ऐसे करें रद्द: 

अगर आपके पास दो पैनकार्ड है तो, एक को रद्द कराने के लिए नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) की वेबसाइट पर जाकर नए पैन के लिए आवेदन करने वाले लिंक पर फॉर्म भरें। जो पैन जारी रखना चाहते हैं, उसे फॉर्म में सबसे ऊपर दर्ज करें। दूसरे पैन की जानकारी फॉर्म के कॉलम नंबर-11 में भरें। इसके अलावा जिस पैन को रद्द करवाना है, उसकी कॉपी फॉर्म के साथ लगा दें। यदि किन्हीं कारणों से पैन खो गया है या खराब हो गया है तो नया बनवाने के बजाय पुराने पैन का डुप्लीकेट बनवाएं।

वहीं, दो पैनकार्ड को लेकर अधिकरियों का कहना है कि ‘पैन एक यूनीक नंबर होता है। जिस तरह से दो लोग या दो कंपनियों के पैन समान नहीं हो सकते हैं। उसी तरह एक ही शख्स या कंपनी दो पैन नहीं रख सकते। यदि गलती से दो पैन बन गए हैं तो उसे सरेंडर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन किया जा सकता है। सरेंडर करने, नाम सुधार या एड्रेस चेंज जैसे बदलावों के लिए फार्म समान होते हैं।’

लखनऊ। कालेधन पर अंकुश लगाने और पैन धारकों का रिकार्ड दुरुस्त रखने के लिए पैनकार्ड की जांच की जा रही है। जिसके जरिये ये पता किया जा रहा है कि जिनके पास भी दो परमानेंट अकाउंट नंबर से पैन कार्ड हैं तो वो तुरंत एक पैनकार्ड को सरेंडर कर दें। अन्यथा आयकर अधिनियम 1961 की धारा 272 के तहत कानूनी कार्रवाई कर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगा सकती है। ऐसे करें रद्द:  अगर आपके पास दो पैनकार्ड है तो, एक को रद्द कराने के लिए नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) की वेबसाइट पर जाकर नए पैन के लिए आवेदन करने वाले लिंक पर फॉर्म भरें। जो पैन जारी रखना चाहते हैं, उसे फॉर्म में सबसे ऊपर दर्ज करें। दूसरे पैन की जानकारी फॉर्म के कॉलम नंबर-11 में भरें। इसके अलावा जिस पैन को रद्द करवाना है, उसकी कॉपी फॉर्म के साथ लगा दें। यदि किन्हीं कारणों से पैन खो गया है या खराब हो गया है तो नया बनवाने के बजाय पुराने पैन का डुप्लीकेट बनवाएं। वहीं, दो पैनकार्ड को लेकर अधिकरियों का कहना है कि 'पैन एक यूनीक नंबर होता है। जिस तरह से दो लोग या दो कंपनियों के पैन समान नहीं हो सकते हैं। उसी तरह एक ही शख्स या कंपनी दो पैन नहीं रख सकते। यदि गलती से दो पैन बन गए हैं तो उसे सरेंडर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन किया जा सकता है। सरेंडर करने, नाम सुधार या एड्रेस चेंज जैसे बदलावों के लिए फार्म समान होते हैं।'