अगर आप भी देखते है स्मार्टफ़ोन पर पोर्न तो हो जाइये सतर्क नही तो …जाएंगे जेल

अगर आप भी देखते है स्मार्टफ़ोन पर पोर्न तो हो जाइये सतर्क नही तो ...जाएंगे जेल
अगर आप भी देखते है स्मार्टफ़ोन पर पोर्न तो हो जाइये सतर्क नही तो ...जाएंगे जेल

आज के इस युग में टेक्नोलॉजी के डेवलेपमेंट के साथ ही कुछ ऐसी चीजें भी होने लगीं हैं जिन्हें इंसान के अपनाने से नैतिक, सामाजिक और आर्थिक सभी तरह का नुकसान होने की आशंका बनी रहती है। जिस तरह से स्मार्ट फोन के चलन ने जहां दुनिया को मुट्ठी में ला दिया है वहीं कुछ लोगों में पॉर्न देखने की लत भी लग गयी है। अगर ये लत आपको भी है तो सतर्क हो जाइए। आपका ये शौक आपको जेल की सलाखों के पीछे तक पहुंचा सकती है।

स्मार्ट फोन पर पॉर्न देखने के कई अन्य नुकसान भी हैं। क्या आप को पता है की अधिकतर पॉर्न वेबसाइट फ्री होता है और इसे लॉगइन करने में कोई चार्ज नहीं पड़ता है, लेकिन जब आप अपने मोबाइल से पॉर्न वेबसाइट लॉग इन करते हैं तो इस वेबसाइट से जुड़े गैरकानूनी  सर्विस आपके मोबाइल के बैकग्राउंड में एक्टिवेट हो जाती हैं। इन्हीं सर्विसेज में एक सर्विस आपत्तिजनक कंटेट आपके सोशल मीडिया के फ्रेंड्स को भेजने की होती है।

{ यह भी पढ़ें:- ये है दुनिया की सबसे खूबसूरत और हॉट एथलीट, जो उड़ा देंगी आपके होश }

नये साइबर लॉ के अनुसार किसी को भी एडल्ट या पॉर्न कंटेंट बिना सहमति के भेजना अपराध है। इस तरह की किसी सर्विस ने अगर आपके एकाउंट्स से किसी को आपत्तिजनक कंटेंट चला गया तो आप को उसका हर्जाना भरना पड़ेगा। इसके लिए एंड्रायड स्मार्टफोन पर प्राइमरी जीमेल अकाउंट के साथ बैंकिंग एप के होते हुए पॉर्न वेबसाइट को ब्राउज़ करना बहुत बड़ा जोखिम है। इससे एंड्राइड स्मार्टफोन की प्राइवेसी और सिक्योरिटी का संकट हमेशा बना रहता है। आप इससे साइबर क्रिमिनल्स के भी चपेट में आ सकते हैं। इसलिए आप हमेशा सतर्क रहे।

{ यह भी पढ़ें:- इस पोर्न स्टार की सेल्फी ने मचाया सोशल मीडिया पर धूम }

आज के इस युग में टेक्नोलॉजी के डेवलेपमेंट के साथ ही कुछ ऐसी चीजें भी होने लगीं हैं जिन्हें इंसान के अपनाने से नैतिक, सामाजिक और आर्थिक सभी तरह का नुकसान होने की आशंका बनी रहती है। जिस तरह से स्मार्ट फोन के चलन ने जहां दुनिया को मुट्ठी में ला दिया है वहीं कुछ लोगों में पॉर्न देखने की लत भी लग गयी है। अगर ये लत आपको भी है तो सतर्क हो जाइए। आपका ये शौक आपको जेल…
Loading...