1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पीएम मोदी का पुतला जलाया तो होगी जेल की सजा, सरकार ने जारी किया सख्त आदेश

पीएम मोदी का पुतला जलाया तो होगी जेल की सजा, सरकार ने जारी किया सख्त आदेश

नेपाल सरकार (Government of Nepal)ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर बेहद सख्त आदेश पास किया गया है। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा (Nepal's Prime Minister Sher Bahadur Deuba) कहा कि अब अगर किसी भी नेपाली शख्स ने नेपाल में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister of India Narendra Modi ) का पुतला जलाया, तो उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। इस बाबत नेपाली गृह मंत्रालय (Nepali Home Ministry) ने सख्त आदेश जारी किए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। नेपाल सरकार (Government of Nepal)ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर बेहद सख्त आदेश पास किया गया है। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा (Nepal’s Prime Minister Sher Bahadur Deuba) कहा कि अब अगर किसी भी नेपाली शख्स ने नेपाल में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister of India Narendra Modi ) का पुतला जलाया, तो उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। इस बाबत नेपाली गृह मंत्रालय (Nepali Home Ministry) ने सख्त आदेश जारी किए हैं।

पढ़ें :- Lata Mangeshkar के बर्थडे PM Modi ने दी स्पेशल विश, कहा- संस्कृति के प्रति उनकी विनम्रता और जुनून...
Jai Ho India App Panchang

नेपाली गृहमंत्रालय की तरफ से जारी आदेश में चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर कोई शख्स नेपाल में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला जलाते हुए पाया जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त पुलिसिया कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से एक नेपाली शख्स की मौत के बाद विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था। रिपोर्ट के मुताबाकि, नेपाल के रहने वाले शख्स की उत्तराखंड के पिथौड़ागढ़ से लगती काली नदी में गिरने के बाद मौत हो गई थी, जिसके बाद प्रदर्शन किया जा रहा था। रिपोर्ट के मुताबिक, धारचूला के गस्कू से नेपाली युवक अवैध तरीके से भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था, और उसी दौरान 30 साल के जय सिंह धामी की हादसे में मौत हो गई थी।

नेपाल में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने एसएसबी पर आरोप लगाया था कि काली नदी को पार करने के लिए जो तार लगाया गया था, उसे एसएसबी ने काट दिया था। उसकी वजह से हादसा हुआ था। हालांकि, एसएसबी ने इस आरोप को खारिज कर दिया है। लेकिन, नेपाल में सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के यूथ विंग के लोग प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला जलाया था, जिसके बाद नेपाल सरकार ने भारत के प्रधानमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करने पर सख्ती दिखाया है।

नेपाली गृहमंत्रालय (Nepali Home Ministry)  ने आदेश जारी करते हुए कहा कि पिछले कुछ दिनों से देखा जा रहा है कि नेपाल में भारत और भारतीय प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी की इमेज खराब करने की कोशिश की जा रही है, जो नाकाबिले बर्दाश्त है। नेपाली गृह मंत्रालय मानता है कि पीएम मोदी के खिलाफ प्रदर्शन करना और उनका पुतला जलाना, भारत के खिलाफ गहरा असम्मान है, लिहाजा ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा (Nepal’s Prime Minister Sher Bahadur Deuba)  को लेफ्ट पार्टियों का समर्थन हासिल है। वहीं, नेपाल सरकार अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ अच्छे संबंध बनाकर रखनवा चाहती है। नेपाल सरकार ने फैसला किया है कि भारत के खिलाफ, या भारत के प्रधानमंत्री के खिलाफ अपमानजनक हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नेपाल गृहमंत्रालय ने माना है कि भारतीय प्रधानमंत्री का पुतला जलाने से नेपाल के राष्ट्रीय हित को नुकसान हो सकता है। नेपाली गृहमंत्रालय ने कहा है कि अगर हमें किसी मुद्दे पर अपने किसी भी पड़ोसी देश से कोई विवाद होगा, तो हम उसे बातचीत के जरिए सुलझाएंगे, न कि वहां के राष्ट्राध्यक्ष का अपने देश में अपमान करेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, आदेश का उल्लंघन करने वालों को जेल की सजा मिलेगी।

पढ़ें :- आज का यूपी बेजोड है , विरोधी भी दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर : डा दिनेश शर्मा 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...