1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. करतें हैं गिलोय का सेवन, तो जरूर जान लें ये बात… हो सकती है बड़ी समस्या

करतें हैं गिलोय का सेवन, तो जरूर जान लें ये बात… हो सकती है बड़ी समस्या

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: कोरोना काल मे आज शायद ही कोई ऐसा हो जिसमे गिलोय का सेवन का किया हो, कई लोग इसका काढ़ा बना कर पीते हैं तो कई लोग इसका ताजा जूस पीना पसंद करें हैं, ऐसा माना जाता है कि गिलोय पीने से इमुनिटी बूस्ट होती है साथ ही साथ कई बीमारियों के लिए रामबाण है।

लेकिन क्या आप जानतें हैं गिलोय का सेवन कुछ लोगों के लिए बेहद घातक भी सकता है, वैसे ऐसा कहा जाता है किसी भी चेज़ कि आती खराब होती है लेकिन गिलोय एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसे पीने के बाद बॉडी को कई बात ‘कई तरह के फायदे देखने को मिलते है तो कई तरह के नुकसान, आइये जानतें है कैसे लोगों को इसका सेवन करना चाहिए और कैसे लोगों को नहीं…

ऐसे लोग करें सेवन

सर्दी-जुकाम-बुखार भगाए

इस बरसात के मौसम में होने वाले डेंगू, मलेरिया जैसे बुखार के वजह से ब्लड प्लेटलेट्स कम होने और रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर गिलोय का उपयोग लाभदायक होता है। एक कप पानी में चार-छह इंच लंबी गिलोय की डंडी कूट कर डाल दें. पानी आधा रह जाने पर बने इस काढ़े में शहद को मिलाकर पीने से बार-बार होने वाला बुखार अच्छा हो जाता है. प्लेटलेट्स कम होने पर गिलोय और ऐलोवेरा के रस के जूस को मिलाकर उपयोग करना फायदेमंद होता है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता में कारगार

गिलोय में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट तत्व बॉडी से विषैले पदार्थ को बाहर निकाल देते हैं और खून को साफ कर देते हैं. साथ ही बॉडी को ऊर्जा प्रदान करते हैं. गिलोय की चार-छह इंच लंबी डंडी को अच्छे से छील लें और आधा पानी मिलाकर मिक्सी में पीस ले  अब इससे अच्छे से छान कर एक स्पून शहद मिलाकर प्रातः खाली पेट पिएं. इसे आपको लाभ मिलेगा.

ऐसे लोग न करें सेवन 

गर्भावस्था 

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी गिलोय से परहेज करने की सलाह दी जाती है। हालांकि गर्भावस्था के दौरान गिलोय के नुकसान के प्रमाण मौजूद नहीं है फिर भी बिना डॉक्टर की सलाह लिए गर्भावस्था में गिलोय का सेवन ना करें।

निम्न रक्तचाप 

जो लोग पहले से ही निम्न रक्तचाप (लो ब्लड प्रेशर) के मरीज हैं उन्हें गिलोय के सेवन से परहेज करना चाहिए क्योंकि गिलोय भी ब्लड प्रेशर को कम करती है। इससे मरीज की स्थिति बिगड़ सकती है। इसी तरह किसी सर्जरी से पहले भी गिलोय का सेवन किसी भी रुप में नहीं करना चाहिए क्योंकि यह ब्लड प्रेशर को कम करती है जिससे सर्जरी के दौरान मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

ऑटो इम्यून बीमारियों का खतरा 

गिलोय के सेवन से शरीर की इम्युनिटी पॉवर मजबूत तो होती है लेकिन कई बार इम्युनिटी के अधिक सक्रिय होने की वजह से ऑटो इम्यून बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसीलिए ऑटो इम्यून बीमारियों जैसे कि मल्टीप्ल स्केरेलोसिस या रुमेटाइड आर्थराइटिस आदि से पीड़ित मरीजों को गिलोय से परहेज की सलाह दी जाती है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...