इजरायल के लड़ाकू विमानों ने सीरिया के मिलिट्री एयरपोर्ट पर की बमबारी

fighter jet attack
इजरायल के लड़ाकू विमानों ने सीरिया के मिलिट्री एयरपोर्ट पर की बमबारी

नई दिल्‍ली। सीरिया में एक बार फिर इजरायल के लड़ाकू विमानों ने जबरदस्‍त बमबारी की है। बमबारी की ये घटना शनिवार आधी में अंजाम दी गई। इसमें दमिश्‍क के निकट बड़े मिलिट्री एयरपोर्ट को निशाना बनाया गया है। बता दें कि दमिश्‍क के पास स्थित अल माजेह में सीरिया का बड़ा मिलिट्री एयरबेस है। इस हमले में इजरायल ने पांच महत्वपूर्ण जगहों को निशाना बनाया है। बमबारी के साथ ही उसने मिसाइलें भी दागी। 

Ijrail Atack On Seria Damishk Airport By Fighter Jet Last Night :

फिलहाल सीरिया की मीडिया ने इस तरह की खबरों का खंडन किया है। उसका कहना है कि इस तरह का कोई हमला शनिवार को नहीं किया गया। मीडिया रिपोर्ट मुताबिक माजेह एयरपोर्ट पर कोई हमला हुआ है, वहां की स्थिती कुछ और ही होती । स्‍थानीय मीडिया ने ये जरूर कहा है कि जिस धमाके की बात कही जा रही है उसकी वजह इजरायल का हमला नहीं बल्कि एम्‍यूनिशन डिपो में हुआ इलेक्ट्रिक फेलयर है। इसी की वजह से वहां मामूली धमाके हुए है। 

दमिश्‍क के लोगों ने बताया कि शनिवार रात करीब 12 बजे उन लोगों ने चार धमाकों की आवाजें सुनी। यह धमाके काफी तेज थे और रात में अचानक तेज रोशनी हो गई थी। उन लोगों के मुताबिक इन धमाकों की आवाज मिलिट्री एयरपोर्ट की ओर से आई थी। स्‍थानीय लोगों के मुताबिक धमाकों की आवाज सुनकर उन्‍हें लगा कि वहां पर विमानों ने बमबारी की है। इसके बाद लगातार काफी देर तक एंबुलेंस और दमकल की गाडि़यों की आवाजें आती रही। कुछ लोगों ने अपने मोबाइल पर वहां का वीडियो भी बनाया है। जिन्हे सोशल मीडिया पर अपलोड करके घटना की जानकारी वायरल कर दी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक माजेह के इलाके में काफी दूतावास स्थित हैं और इसके ही निकट सीरियाई राष्‍ट्रपति बशर अल असद का भी आवास है। जिससे वहां ऐसी घटना करना आसान नही है। लिहाजा धमाकों की खबर पूरी तरह से झूठ है। 

नई दिल्‍ली। सीरिया में एक बार फिर इजरायल के लड़ाकू विमानों ने जबरदस्‍त बमबारी की है। बमबारी की ये घटना शनिवार आधी में अंजाम दी गई। इसमें दमिश्‍क के निकट बड़े मिलिट्री एयरपोर्ट को निशाना बनाया गया है। बता दें कि दमिश्‍क के पास स्थित अल माजेह में सीरिया का बड़ा मिलिट्री एयरबेस है। इस हमले में इजरायल ने पांच महत्वपूर्ण जगहों को निशाना बनाया है। बमबारी के साथ ही उसने मिसाइलें भी दागी। 

फिलहाल सीरिया की मीडिया ने इस तरह की खबरों का खंडन किया है। उसका कहना है कि इस तरह का कोई हमला शनिवार को नहीं किया गया। मीडिया रिपोर्ट मुताबिक माजेह एयरपोर्ट पर कोई हमला हुआ है, वहां की स्थिती कुछ और ही होती । स्‍थानीय मीडिया ने ये जरूर कहा है कि जिस धमाके की बात कही जा रही है उसकी वजह इजरायल का हमला नहीं बल्कि एम्‍यूनिशन डिपो में हुआ इलेक्ट्रिक फेलयर है। इसी की वजह से वहां मामूली धमाके हुए है। 

दमिश्‍क के लोगों ने बताया कि शनिवार रात करीब 12 बजे उन लोगों ने चार धमाकों की आवाजें सुनी। यह धमाके काफी तेज थे और रात में अचानक तेज रोशनी हो गई थी। उन लोगों के मुताबिक इन धमाकों की आवाज मिलिट्री एयरपोर्ट की ओर से आई थी। स्‍थानीय लोगों के मुताबिक धमाकों की आवाज सुनकर उन्‍हें लगा कि वहां पर विमानों ने बमबारी की है। इसके बाद लगातार काफी देर तक एंबुलेंस और दमकल की गाडि़यों की आवाजें आती रही। कुछ लोगों ने अपने मोबाइल पर वहां का वीडियो भी बनाया है। जिन्हे सोशल मीडिया पर अपलोड करके घटना की जानकारी वायरल कर दी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक माजेह के इलाके में काफी दूतावास स्थित हैं और इसके ही निकट सीरियाई राष्‍ट्रपति बशर अल असद का भी आवास है। जिससे वहां ऐसी घटना करना आसान नही है। लिहाजा धमाकों की खबर पूरी तरह से झूठ है।