IL&FS केस : ईडी कार्यालय पहुंचे राज ठाकरे, केस को लेकर होगी पूछताछ

raj thakare
IL&FS केस : ईडी कार्यालय पहुंचे राज ठाकरे, केस को लेकर होगी पूछताछ

नई दिल्ली। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय पहुंच गए हैं। राज ठाकरे से आईएल एंड एफएस मामले में ईडी के अधिकारी पूछताछ करेंगे। वहीं, राज ठाकरे के यहां पहुंचने से पहले ही मुंबई पुलिस ने सभी तैयारियां शुरू कर दी थीं। इसके साथ ही कई क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी गई है। वहीं, ईडी की पूछताछ से महाराष्ट्र की राजनीति गरमा गई है।

Ilfs Case Raj Thackeray Arrives At Ed Office Will Be Questioned About The Case :

खुद शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने कहा है कि इस पूछताछ से कुछ नहीं निकलेगा। इस बीच मुंबई पुलिस ने एहतियात के तौर पर एमएनएस नेता संदीप देशपांडे समेत कुछ एमएनएस वर्कर्स को हिरासत में लिया है। इस दौरान संदीप देशपांडे ने दावा है कि उन्हें कार्रवाई के बारे में सूचना नहीं दी गई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राज ठाकरे को समन भेजे जाने की बात सुनकर पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगा लीे।

वहीं, ठाकरे ने कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने इससे पहले मंगलवार को कहा था कि वह ईडी के भेजे गए समन का सम्मान करेंगे। इस दौरान ठाकरे ने सभी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मार्च 2006 में पार्टी की स्थापना के बाद से उनके और कार्यकर्ताओं के खिलाफ कई मामले दर्ज हुए हैं। ठाकरे को नोटिस के बाद उनके चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहोयगी पार्टी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतरे हैं। उन्होंने कहा कि, इस पूछताछ में कुछ नहीं निकलेगा।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय पहुंच गए हैं। राज ठाकरे से आईएल एंड एफएस मामले में ईडी के अधिकारी पूछताछ करेंगे। वहीं, राज ठाकरे के यहां पहुंचने से पहले ही मुंबई पुलिस ने सभी तैयारियां शुरू कर दी थीं। इसके साथ ही कई क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी गई है। वहीं, ईडी की पूछताछ से महाराष्ट्र की राजनीति गरमा गई है। खुद शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने कहा है कि इस पूछताछ से कुछ नहीं निकलेगा। इस बीच मुंबई पुलिस ने एहतियात के तौर पर एमएनएस नेता संदीप देशपांडे समेत कुछ एमएनएस वर्कर्स को हिरासत में लिया है। इस दौरान संदीप देशपांडे ने दावा है कि उन्हें कार्रवाई के बारे में सूचना नहीं दी गई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राज ठाकरे को समन भेजे जाने की बात सुनकर पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगा लीे। वहीं, ठाकरे ने कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने इससे पहले मंगलवार को कहा था कि वह ईडी के भेजे गए समन का सम्मान करेंगे। इस दौरान ठाकरे ने सभी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मार्च 2006 में पार्टी की स्थापना के बाद से उनके और कार्यकर्ताओं के खिलाफ कई मामले दर्ज हुए हैं। ठाकरे को नोटिस के बाद उनके चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहोयगी पार्टी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतरे हैं। उन्होंने कहा कि, इस पूछताछ में कुछ नहीं निकलेगा।