अवैध खनन की जांच ही नहीं एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई भी करे सीबीआई

इलाहाबाद। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को सीबीआई को निर्देश दिया कि वह प्रदेश में हो रहे अवैध खनन की न केवल जांच करे, अपितु दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करे। कोर्ट ने यह आदेश तब दिया जब सीबीआई के वकील ने मामले की सुनवाई कर रही कोर्ट से कहा कि वह प्रदेश में माफियाओं द्वारा किए जा रहे अवैध खनन की जांच तो कर रही है, परन्तु कोर्ट ने अपने आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया है कि सीबीआई दोषियों के खिलाफ आगे क्या कार्रवाई करे।





इस पर मामले की सुनवाई कर रही चीफ जस्टिस डीबी भोसले व जस्टिस यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने सीबीआई को आदेश दिया कि वह अवैध खनन के दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करे तथा मुकदमा दर्ज करे। यही नहीं, हाईकोर्ट ने यह भी आदेश दिया कि सीबीआई वैसे तो पूरे प्रदेश मे अवैध खनन की जांच करे, परन्तु किन्हीं पांच जिलों को चुन उस पर फोकस कर कानूनी कार्रवाई शुरू करे। चीफ जस्टिस ने आगे यह भी कहा कि सीबीआई जांच कर अपने स्तर से कार्रवाई करने को स्वतंत्र है, इसके लिए कोर्ट के आदेश की जरूरत नहीं है। यह आदेश कोर्ट ने अमर सिंह व दर्जनों अन्य की याचिकाओं पर सीबीआई की अर्जी पर पारित किया।

मालूम हो कि हाईकोर्ट ने प्रदेश में हो रहे अवैध खनन की सीबीआई से जांच का आदेश दे रखा है, परन्तु सीबीआई का कोर्ट में कहना था वह जांच तो कर रही है परन्तु आगे की कार्रवाई कोर्ट के आदेश के बिना नहीं कर पा रही है। इसी पर कोर्ट ने आदेश देकर स्पष्ट कर दिया कि सीबीआई दोषियों के खिलाफ एफआईआर आदि कानूनी कार्रवाई करे।



Loading...