मुंबई में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज से हो रही थी पाक के लिए जासूसी, 191 सिम कार्ड बरामद

1016191_sim_recoverd_in_mumbai

मुंबई: पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ हुआ है। इस मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी हुई है और मौके से 191 सिम कार्ड भी जब्त किए गए हैं। अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चलाने के लिए चार सिम बॉक्स का इस्तेमाल किया जा रहा था। बरामद 191 सिम कार्ड में से 72 एक्टिव थे और अन्य 119 को आगे के बैकअप के लिए रखा गया था। इस एक्सचेंज से बड़े पैमाने पर राजस्व का नुकसान हुआ है। यहां से जम्मू के कुछ रक्षा प्रतिष्ठानों को भी कॉल गई है। इन सिम बॉक्सों में डायनामिक आईएमईआई सिस्टम का भी इस्तेमाल किया गया है, जो टेलिकॉम मंत्रालय की ओर से अवैध है।

Illegal Telephone Exchange In Mumbai Was Being Spied For Pakistan 191 Sim Card Recovered :

आरोपी मुंबई से कॉल डाइवर्ट करने की सुविधा देता था। आरोपी जम्मू-कश्मीर में सेना से जुड़े लोगों को फोन करके खुफिया जानकारी हासिल करता था। साथ ही एक्सचेंज की मदद से सेना और सुरक्षा बलों के काफिले की मूवमेंट के बारे में जानकारी हासिल की जाती थी। ऐसी ही जानकारी लीक होने से पुलवामा जैसे हमले हो सकते हैं।

इस कार्रवाई के बारे में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के डिप्टी कमिश्नर ने बताया, चेंबूर इलाके में क्राइम ब्रांच ने छापेमारी करके एक शख्स को गिरफ्तार किया है, साथ ही फर्जी टेलिफोन एक्सचेंज का भी भंडाफोड़ हुआ है। इस टेलिफोन एक्सचेंज का इस्तेमाल करके जम्मू-कश्मीर में आर्मी और सुरक्षा बलों के काफिलों की मूवमेंट के बारे में जानकारी ट्रांसफर की जाती थी।

मुंबई: पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ हुआ है। इस मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी हुई है और मौके से 191 सिम कार्ड भी जब्त किए गए हैं। अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चलाने के लिए चार सिम बॉक्स का इस्तेमाल किया जा रहा था। बरामद 191 सिम कार्ड में से 72 एक्टिव थे और अन्य 119 को आगे के बैकअप के लिए रखा गया था। इस एक्सचेंज से बड़े पैमाने पर राजस्व का नुकसान हुआ है। यहां से जम्मू के कुछ रक्षा प्रतिष्ठानों को भी कॉल गई है। इन सिम बॉक्सों में डायनामिक आईएमईआई सिस्टम का भी इस्तेमाल किया गया है, जो टेलिकॉम मंत्रालय की ओर से अवैध है। आरोपी मुंबई से कॉल डाइवर्ट करने की सुविधा देता था। आरोपी जम्मू-कश्मीर में सेना से जुड़े लोगों को फोन करके खुफिया जानकारी हासिल करता था। साथ ही एक्सचेंज की मदद से सेना और सुरक्षा बलों के काफिले की मूवमेंट के बारे में जानकारी हासिल की जाती थी। ऐसी ही जानकारी लीक होने से पुलवामा जैसे हमले हो सकते हैं। इस कार्रवाई के बारे में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के डिप्टी कमिश्नर ने बताया, चेंबूर इलाके में क्राइम ब्रांच ने छापेमारी करके एक शख्स को गिरफ्तार किया है, साथ ही फर्जी टेलिफोन एक्सचेंज का भी भंडाफोड़ हुआ है। इस टेलिफोन एक्सचेंज का इस्तेमाल करके जम्मू-कश्मीर में आर्मी और सुरक्षा बलों के काफिलों की मूवमेंट के बारे में जानकारी ट्रांसफर की जाती थी।