अवैध खनन घोटाला : सीबीआई की रडार पर कई और IAS, अब तक एक दर्जन से हुई पूछताछ

cbi
अवैध खनन घोटाला : सीबीआई की रडार पर कई और आईएएस, अब तक एक दर्जन से हुई पूछताछ

लखनऊ। सपा सरकार में हुए अवैध खनन घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई एक दर्जन आईएएस अफसरों के यहां छापेमारी और पूछताछ कर चुकी है। हालांकि अभी आधा दर्जन से ज्यादा आईएएस अफसर सीबीआई की रडार पर हैं। ये अफसर सपा शासन काल में बतौर जिलाधिकारी, खनन विभाग और मुख्यमंत्री कार्यालय में तैनात रह चुके हैं। जांच एजेंसी ने इन लोगों से पहले ही दिल्ली तलब कर पूछताछ कर चुकी है।

Illicit Mining Case Now Other 6 Ias Officers On Cbi Radar :

अवैध खनन घोटाले के मामले में सीबीआई की जांच के दायरे में फिलहाल हमीरपुर, देवरिया, फतेहपुर, कौशांबी, शामिली और सिद्घार्थनगर जिले हैं। इसमें से देवरिया, फतेहपुर और हमीरपुर के तत्कालीन जिलाधिकारियों से जांच एजेंसी न सिर्फ पूछताछ कर चुकी है बल्कि उनके घरों को भी खंगाल चुकी है। अब नंबर उन अधिकारियों के हैं जो बाकी के बचे जिलों में तैनात रहे हैं।

सूत्र बतातें हैं कि बाकी बचे अफसरों से जल्द ही सीबीआई पूछताछ कर सकती है। इसके साथ ही इन जिलों में हुए घोटाले के समय तैनात रहे अधिकारियों को अपनी जांच में शामिल कर, उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है। सूत्रों की माने तो अवैध खनन के मामले में सीबाआई प्रदेश के कई अधिकारियों को दिल्ली तलब कर पूछताछ कर चुकी है।

इसमें हमीरपुर में डीएम रहीं बी चंद्रकला, फतेहपुर में डीएम रहे अभय, देवरिया में डीएम रहे विवेक, देवरिया में ही अपर जिलाधिकारी रहे देवी शरण उपाध्याय, प्रमुख सचिव खनन रहे जीवेश नंदन और विशेष सचिव खनन रहे संतोष कुमार का नाम सामने आ चुके हैं। बाकी में एक प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारी, दो विशेष सचिव और तीन पूर्व में बतौर जिलाधिकारी तैनात रहे अफसरों से भी जांच एजेंसी ने पूछताछ की है। गौरतलब है कि, सीबाआई दो दिनों पूर्व प्रदेश के कई अफसरों के यहां पर छापेमारी की थी। इस दौरान उसे कई सुबूत मिले थे।

लखनऊ। सपा सरकार में हुए अवैध खनन घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई एक दर्जन आईएएस अफसरों के यहां छापेमारी और पूछताछ कर चुकी है। हालांकि अभी आधा दर्जन से ज्यादा आईएएस अफसर सीबीआई की रडार पर हैं। ये अफसर सपा शासन काल में बतौर जिलाधिकारी, खनन विभाग और मुख्यमंत्री कार्यालय में तैनात रह चुके हैं। जांच एजेंसी ने इन लोगों से पहले ही दिल्ली तलब कर पूछताछ कर चुकी है। अवैध खनन घोटाले के मामले में सीबीआई की जांच के दायरे में फिलहाल हमीरपुर, देवरिया, फतेहपुर, कौशांबी, शामिली और सिद्घार्थनगर जिले हैं। इसमें से देवरिया, फतेहपुर और हमीरपुर के तत्कालीन जिलाधिकारियों से जांच एजेंसी न सिर्फ पूछताछ कर चुकी है बल्कि उनके घरों को भी खंगाल चुकी है। अब नंबर उन अधिकारियों के हैं जो बाकी के बचे जिलों में तैनात रहे हैं। सूत्र बतातें हैं कि बाकी बचे अफसरों से जल्द ही सीबीआई पूछताछ कर सकती है। इसके साथ ही इन जिलों में हुए घोटाले के समय तैनात रहे अधिकारियों को अपनी जांच में शामिल कर, उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है। सूत्रों की माने तो अवैध खनन के मामले में सीबाआई प्रदेश के कई अधिकारियों को दिल्ली तलब कर पूछताछ कर चुकी है। इसमें हमीरपुर में डीएम रहीं बी चंद्रकला, फतेहपुर में डीएम रहे अभय, देवरिया में डीएम रहे विवेक, देवरिया में ही अपर जिलाधिकारी रहे देवी शरण उपाध्याय, प्रमुख सचिव खनन रहे जीवेश नंदन और विशेष सचिव खनन रहे संतोष कुमार का नाम सामने आ चुके हैं। बाकी में एक प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारी, दो विशेष सचिव और तीन पूर्व में बतौर जिलाधिकारी तैनात रहे अफसरों से भी जांच एजेंसी ने पूछताछ की है। गौरतलब है कि, सीबाआई दो दिनों पूर्व प्रदेश के कई अफसरों के यहां पर छापेमारी की थी। इस दौरान उसे कई सुबूत मिले थे।