वायु तूफान ने बदला रास्ता, आज दोपहर गुजरात के तटों पर देगा दस्तक

b.jpeg

गुजरात। अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान वायु आज दोपहर तक गुजरात के तटों पर दस्तक देगा। इस दौरान हवा की गति 135-145 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलने का अनुमान है। यह चक्रवाती तूफान अब अरब सागर के पूर्वी तटों की तरफ उत्तर पश्चिम की तरफ अगले 6 घंटें में पहुंचने की संभावना है।

Imd Very Severe Cyclonic Storm Vayu Over Ec Arabian Sea Moved Nnw Wards In Last 6 Hours :

इस वक्त यह गिर सोमनाथ के वेरावल तट से 130 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में है और पोरबंदर से 180 किलोमीटर दक्षिण में हैं। यह उत्तर उत्तर पश्चिम में कुछ समय के लिए और फिर उत्तर पश्चिम में सौराष्ट्र तट से टकराएगा जिसकी वजह से यहां 135 से 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। ताजा जानकारी के मुताबिक तूफान वायु ने अपना रास्ता बदल लिया है।

अब यह तूफान गुजरात के तट से सीधे नहीं टकराएगाण् यह तूफान गुजरात के तटीय इलाकों के पास से निकलेगा। अहमदाबाद में भारतीय मौसम विभाग की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया वायु तूफान गुजरात से नहीं टकराएगा। यह वेरावल, पोरबंदर, और द्वारका तटों के करीब से गुजरेगा। इसका प्रभाव गुजरात के तटीय क्षेत्रों में दिखाई देगा। वहां तेज आंधी के साथ तेज हवाएं चलेंगी। केन्द्रीय भू विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन का कहना है कि चक्रवातीय तूफान वायु के 13 जून गुरुवार दोपहर गुजरात पहुंचने की संभावना है।

उस दौरान हवा की गति 155 से 156 किलोमीटर प्रतिघंटा के बीच रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि भू विज्ञान मंत्रालय के अधिकारी चक्रवात के संबंध में समय पर जानकारी मुहैया करा रहे हैं। हर्षवर्धन ने बुधवार को उपग्रह से प्राप्त चक्रवात की तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया मैं उन सभी परिवारों के भले की प्रार्थना करता हूं जिनके चक्रवात वायु से प्रभावित होने की आशंका है।

इसके 13 जून को दोपहर में 155-156 किलोमीटर प्रतिघंटा रफ्तार वाली हवा के साथ आने की संभावना है। चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए बुधवार दोपहर पटना एयरपोर्ट से एनडीआरफ की टीमों को रवाना किया गया। 6 टीमें गुजरात के लिए हुई रवाना की गई है।

इसके साथ ही उप कमान्डेंट हरि चरण प्रसाद और सहायक कमान्डेंट अरविन्द मिश्रा के नेतृत्व में 9वीं वाहिनी राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 6 टीमें भी हुई रवाना की गई है। जामनगर गुजरात एयरपोर्ट के लिए यह टीमें एयरफोर्स के सी.17 एयरक्राफ्ट से रवाना हुईं। अत्याधुनिक आपदा प्रबंधन संचार उपकरणों से लैस इस टीम में एक चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्व में जीवन रक्षक दवाइयां भी साथ भेजी गई हैं।

गुजरात। अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान वायु आज दोपहर तक गुजरात के तटों पर दस्तक देगा। इस दौरान हवा की गति 135-145 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलने का अनुमान है। यह चक्रवाती तूफान अब अरब सागर के पूर्वी तटों की तरफ उत्तर पश्चिम की तरफ अगले 6 घंटें में पहुंचने की संभावना है। इस वक्त यह गिर सोमनाथ के वेरावल तट से 130 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में है और पोरबंदर से 180 किलोमीटर दक्षिण में हैं। यह उत्तर उत्तर पश्चिम में कुछ समय के लिए और फिर उत्तर पश्चिम में सौराष्ट्र तट से टकराएगा जिसकी वजह से यहां 135 से 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। ताजा जानकारी के मुताबिक तूफान वायु ने अपना रास्ता बदल लिया है। अब यह तूफान गुजरात के तट से सीधे नहीं टकराएगाण् यह तूफान गुजरात के तटीय इलाकों के पास से निकलेगा। अहमदाबाद में भारतीय मौसम विभाग की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया वायु तूफान गुजरात से नहीं टकराएगा। यह वेरावल, पोरबंदर, और द्वारका तटों के करीब से गुजरेगा। इसका प्रभाव गुजरात के तटीय क्षेत्रों में दिखाई देगा। वहां तेज आंधी के साथ तेज हवाएं चलेंगी। केन्द्रीय भू विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन का कहना है कि चक्रवातीय तूफान वायु के 13 जून गुरुवार दोपहर गुजरात पहुंचने की संभावना है। उस दौरान हवा की गति 155 से 156 किलोमीटर प्रतिघंटा के बीच रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि भू विज्ञान मंत्रालय के अधिकारी चक्रवात के संबंध में समय पर जानकारी मुहैया करा रहे हैं। हर्षवर्धन ने बुधवार को उपग्रह से प्राप्त चक्रवात की तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया मैं उन सभी परिवारों के भले की प्रार्थना करता हूं जिनके चक्रवात वायु से प्रभावित होने की आशंका है। इसके 13 जून को दोपहर में 155-156 किलोमीटर प्रतिघंटा रफ्तार वाली हवा के साथ आने की संभावना है। चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए बुधवार दोपहर पटना एयरपोर्ट से एनडीआरफ की टीमों को रवाना किया गया। 6 टीमें गुजरात के लिए हुई रवाना की गई है। इसके साथ ही उप कमान्डेंट हरि चरण प्रसाद और सहायक कमान्डेंट अरविन्द मिश्रा के नेतृत्व में 9वीं वाहिनी राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 6 टीमें भी हुई रवाना की गई है। जामनगर गुजरात एयरपोर्ट के लिए यह टीमें एयरफोर्स के सी.17 एयरक्राफ्ट से रवाना हुईं। अत्याधुनिक आपदा प्रबंधन संचार उपकरणों से लैस इस टीम में एक चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्व में जीवन रक्षक दवाइयां भी साथ भेजी गई हैं।