लुक आउट नोटिस पर आव्रजन सोनौली ने ईरानी दम्‍पत्ति को रोका,जांच के बाद छोड़ा

images (10)

सोनौली:भारत-नेपाल सीमा के सोनौली बॉर्डर से नेपाल जा रहे एक ईरानी दम्पति को आब्रजन अधिकारियों ने सोमवार रात जांच के लिए रोक लिया। इन पर केरल पुलिस ने लुक आउट नोटिस जारी किया था। जांच के बाद दंपति को मंगलवार की शाम को छोड़ दिया गया।

Immigration Sonauli Stopped Iranian Couple On Look Out Notice Left After Investigation :

सोमवार की देर रात एक ईरानी दम्पति भारत से नेपाल जा रहे थे। इस दौरान अपना पासपोर्ट और वीजा लेकर आब्रजन कार्यालय सोनौली पहुंचे। पासपोर्ट चेक करते ही आब्रजन के अधिकारियों ने ईरानी दम्पति को लुक आउट नोटिस की जानकारी देते हुए उन्हें नेपाल जाने से रोक लिया। इस संबंध में आब्रजन प्रभारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि खालिद महबूबी निवासी तेहरान और उनकी पत्नी रोघाय हुसैनी के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी था।

इन पर केरल राज्य के कोलम जिले के कुंद्रा थाने में 380/34 आईपीसी धारा के अंतर्गत मुकदमा दर्ज था। दंपति को रोककर केरल की संबंधित पुलिस व उच्चाधिकारियों को सूचित किया गया। केरल पुलिस ने लिखित भेजा है कि छोड़ दिया जाए, क्योंकि मामला बहुत बड़ा नहीं था। इसके बाद इस दंपति को छोड़ दिया गया और वे नेपाल चले गए। बताया जा रहा है कि दंपति मार्च 2018 से भारत में था और डॉलर एक्सचेंज का काम करते थे।

सोनौली:भारत-नेपाल सीमा के सोनौली बॉर्डर से नेपाल जा रहे एक ईरानी दम्पति को आब्रजन अधिकारियों ने सोमवार रात जांच के लिए रोक लिया। इन पर केरल पुलिस ने लुक आउट नोटिस जारी किया था। जांच के बाद दंपति को मंगलवार की शाम को छोड़ दिया गया। सोमवार की देर रात एक ईरानी दम्पति भारत से नेपाल जा रहे थे। इस दौरान अपना पासपोर्ट और वीजा लेकर आब्रजन कार्यालय सोनौली पहुंचे। पासपोर्ट चेक करते ही आब्रजन के अधिकारियों ने ईरानी दम्पति को लुक आउट नोटिस की जानकारी देते हुए उन्हें नेपाल जाने से रोक लिया। इस संबंध में आब्रजन प्रभारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि खालिद महबूबी निवासी तेहरान और उनकी पत्नी रोघाय हुसैनी के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी था। इन पर केरल राज्य के कोलम जिले के कुंद्रा थाने में 380/34 आईपीसी धारा के अंतर्गत मुकदमा दर्ज था। दंपति को रोककर केरल की संबंधित पुलिस व उच्चाधिकारियों को सूचित किया गया। केरल पुलिस ने लिखित भेजा है कि छोड़ दिया जाए, क्योंकि मामला बहुत बड़ा नहीं था। इसके बाद इस दंपति को छोड़ दिया गया और वे नेपाल चले गए। बताया जा रहा है कि दंपति मार्च 2018 से भारत में था और डॉलर एक्सचेंज का काम करते थे।