जा सकती है इमरान सरकार, कट्टरपंथी पार्टी ने सरकार को उखाड़ फेंकने का किया ऐलान

imran
जा सकती है इमरान सरकार, कट्टरपंथी पार्टी ने सरकार को उखाड़ फेंकने का किया ऐलान

नई दिल्ली। भारत को गीदड़ धमकी देने वाले पाकिस्तान के PM इमरान खान के इन दिनो बहुत बुरे दिन चल रहे हैं। जहां कश्मीर का रोना रोने के बावजूद दुनिया के किसी देश ने उनकी सरकार का समर्थन नही किया वहीं अब पाकिस्तान में उनकी सरकार गिराने की तैयारियों शुरू हो गयी हैं। हाल ही में पाकिस्तान के सुन्नी कट्टरपंथी दल जमायत उलेमा-ए-इस्लाम ने सरकार को उखाड़ फेंकने तक आंदोलन करने का ऐलान किया है। इमरान सरकार अब चारो तरफ से घिरती नजर आ रही है।

Imran Government Can Go Radical Party Announced To Overthrow Government :

आपको बता दें कि जमायत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख फजलुर रहमान ने कहा कि उनकी पार्टी का ‘आजादी’ मार्च, सरकार के खिलाफ ‘जंग’ है। उन्होंने सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि उनके दल द्वारा शुरू किया गया आजादी मार्च सरकार के पतन के बाद ही समाप्त होगा। उनका कहना है कि इस मामले में पाकिस्तान की जनता भी साथ है। आने वाले 27 अक्टूबर को सरकार के खिलाफ एक मार्च निकालने की घोषणा भी की गयी है।

रहमान का कहना है कि इमरान की सरकार बनना पाकिस्तान के लिए दुर्भाग्य है, यह एक नकली चुनाव का नतीजा है। उनका कहना है कि पाकिस्तान के सभी दलों ने नये सिरे से चुनाव कराने की मांग की है। उनका कहना है कि सरकार की नाकामियों के चलते ही आज देश बुरे दौर से गुजर रहा है, आर्थिक संकट के साथ साथ कारोबार पूरी तरह से चौपट हो गया।

आपको बता दें कि जबसे भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया तबसे इमरान बौखलाए हुए हैं और उन्होने पूरी दुनिया के सामने भारत को बदनाम करने के लिए सैकड़ो झूंठ बोले लेकिन उनकी किसी ने न सुनी। उन्होने पीओके के लोगों को भी भड़काया साथ ही भारत में घुसपैठ कर रहे आतंकियों को कश्मीरियों का मददगार भी बताया।

नई दिल्ली। भारत को गीदड़ धमकी देने वाले पाकिस्तान के PM इमरान खान के इन दिनो बहुत बुरे दिन चल रहे हैं। जहां कश्मीर का रोना रोने के बावजूद दुनिया के किसी देश ने उनकी सरकार का समर्थन नही किया वहीं अब पाकिस्तान में उनकी सरकार गिराने की तैयारियों शुरू हो गयी हैं। हाल ही में पाकिस्तान के सुन्नी कट्टरपंथी दल जमायत उलेमा-ए-इस्लाम ने सरकार को उखाड़ फेंकने तक आंदोलन करने का ऐलान किया है। इमरान सरकार अब चारो तरफ से घिरती नजर आ रही है। आपको बता दें कि जमायत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख फजलुर रहमान ने कहा कि उनकी पार्टी का 'आजादी' मार्च, सरकार के खिलाफ 'जंग' है। उन्होंने सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि उनके दल द्वारा शुरू किया गया आजादी मार्च सरकार के पतन के बाद ही समाप्त होगा। उनका कहना है कि इस मामले में पाकिस्तान की जनता भी साथ है। आने वाले 27 अक्टूबर को सरकार के खिलाफ एक मार्च निकालने की घोषणा भी की गयी है। रहमान का कहना है कि इमरान की सरकार बनना पाकिस्तान के लिए दुर्भाग्य है, यह एक नकली चुनाव का नतीजा है। उनका कहना है कि पाकिस्तान के सभी दलों ने नये सिरे से चुनाव कराने की मांग की है। उनका कहना है कि सरकार की नाकामियों के चलते ही आज देश बुरे दौर से गुजर रहा है, आर्थिक संकट के साथ साथ कारोबार पूरी तरह से चौपट हो गया। आपको बता दें कि जबसे भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया तबसे इमरान बौखलाए हुए हैं और उन्होने पूरी दुनिया के सामने भारत को बदनाम करने के लिए सैकड़ो झूंठ बोले लेकिन उनकी किसी ने न सुनी। उन्होने पीओके के लोगों को भी भड़काया साथ ही भारत में घुसपैठ कर रहे आतंकियों को कश्मीरियों का मददगार भी बताया।