1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Imran Khan बोले- भारत जैसी इज्जत हमें नहीं देता अमेरिका, हमारे रिश्ते ‘मालिक-नौकर’ जैसे

Imran Khan बोले- भारत जैसी इज्जत हमें नहीं देता अमेरिका, हमारे रिश्ते ‘मालिक-नौकर’ जैसे

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान (Former PM of Pakistan Imran Khan) अमेरिकी प्रशासन (American Administration) के तरफ से उनके देश के साथ दोयम दर्ज का व्यवहार किया जाने पर कड़ी प्रतिक्रया दी है। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि अमेरिका (America) को पाकिस्तान (Pakistan)से उसी तरह का 'सम्मानजनक व्यवहार' करना चाहिए, जैसा कि वह भारत (India) के साथ करता है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान (Former PM of Pakistan Imran Khan) अमेरिकी प्रशासन (American Administration) के तरफ से उनके देश के साथ दोयम दर्ज का व्यवहार किया जाने पर कड़ी प्रतिक्रया दी है। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि अमेरिका (America) को पाकिस्तान (Pakistan)से उसी तरह का ‘सम्मानजनक व्यवहार’ करना चाहिए, जैसा कि वह भारत (India) के साथ करता है।

पढ़ें :- Forbes Billionaires Index : गौतम अडानी एक हफ्ते में नंबर दो से 16वें पर पहुंचे, हिंडनबर्ग रिपोर्ट की सुनामी जारी

ब्रिटिश अखबार फाइनेंसियल टाइम्स (British Newspaper Financial Times) को हाल ही में दिए एक साक्षात्कार में इमरान खान (Imran Khan) ने यह बात कही। उनका कहना है कि भारत (India) के साथ अमेरिका (America)  के बहुत ही सम्मानजनक व्यवहार करता है।

सत्ता से बेदखल करने का अमेरिका पर लगाया आरोप

पूर्व क्रिकेटर इमरान खान (Imran Khan)ने इससे पहले अमेरिका पर आरोप लगाया था कि उसने उन्हें सत्ता से बेदखल करने की साजिश रची थी। खान ने भारत की तारीफ करते हुए कहा कि उसने अपनी जनता की खातिर यूक्रेन जंग (Ukraine War) के बाद भी अमेरिका के दबाव में आए बगैर रूस से तेल आयात जारी रखा। भारत अपनी जनता के हित को प्राथमिकता देता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) भी अमेरिका का साझेदार बनना चाहता है, लेकिन ऐसा भी होना चाहिए कि कभी वह अमेरिका को न कह सके।

भाड़े की बंदूक की तरह किया इस्तेमाल

पढ़ें :- Budget 2023: सीएम योगी बोले-बजट से UP की जनता लाभान्वित होने जा रही

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI)  प्रमुख ने इमरान खान (Imran Khan) ने कहा कि इस्लामाबाद और वॉशिंगटन के रिश्ते ‘मालिक-नौकर’ जैसे हैं। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान (Pakistan) को अमेरिका ने ‘भाड़े की बंदूक’ (hired gun) की तरह इस्तेमाल किया। इमरान ने इसके लिए पिछली सरकारों को दोषी ठहराया। पूर्व पीएम ने कहा कि अमेरिका के साथ हमारे रिश्ते मालिक-गुलाम के रहे हैं, लेकिन इसके लिए मैं अमेरिका के बजाए अपने देश की सरकारों को दोष देता हूं।

अमेरिकी साजिश में शामिल थे पाकिस्तानी

पीएम पद से बेदखल करने की कथित अमेरिकी साजिश (American Conspiracy) का जिक्र करते हुए इमरान खान (Imran Khan)  ने कहा कि यह मुद्दा अब खत्म हो गया है। पाकिस्तान (Pakistan) के लोगों की मदद के बिना अमेरिका अपनी साजिश में सफल नहीं हो सकता था। जहां तक मेरा संबंध है, यह मामला खत्म हो गया है, लेकिन अमेरिका जो भी चाहता है, वह पाकिस्तानी (Pakistani)लोगों के बिना नहीं हो सकता था। पाकिस्तानियों ने इस साजिश में सक्रिय रूप से भाग लिया।

बता दें, इमरान खान (Imran Khan) को इस साल अप्रैल में तत्कालीन विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के चलते पीएम पद छोड़ना पड़ा था। इसे लेकर उन्होंने अक्सर अमेरिका और तत्कालीन विपक्ष अब सत्तारूढ़ पीएमएल-एन (PML-N) पर साजिश रचने के आरोप लगाए थे।

पढ़ें :- डूब रहा है जनता का पैसा और आंख पर पट्टी बांधे है मोदी सरकार : कांग्रेस
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...