इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर की मनमोहक फोटो शेयर की, लिखा- सिख श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए तैयार

gurudas pur
इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर की मनमोहक फोटो शेयर की, लिखा- सिख श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए तैयार

नई दिल्ली। भारतीय सिख श्रद्धालुओं के लिए नौ नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर खुल जाएगा। आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमारान खान ने करतारपुर कॉरिडोर की मनमोहक तस्वीर साझा की। उन्होंने इसके साथ लिखा कि करतारपुर सिख श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए तैयार है।

Imran Khan Shared A Beautiful Photo Of Kartarpur Corridor Wrote Sikhs Ready To Welcome Devotees :

इमरान खान ने आज गुरुद्वारा दरबार साहिब की कई तस्वीर साझा करते हुए कहा कि गुरु नानक जी के 550 वें जन्मोत्सव समारोह के लिए रिकॉर्ड समय में करतारपुर को तैयार करने के लिए सरकार को बधाई देना चाहता हूं।

इन तस्वीरों को खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 9 नवंबर को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन से पहले साझा किया। वर्ष 2019 सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती वर्ष है, जिनका जन्मस्थान पाकिस्तान में श्री ननकाना साहिब है।

ऐसा माना जा रहा है कि ऐसा करके खान धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने यहां आने के इच्छुक सिख श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की शर्त को समाप्त कर दिया था। इसके साथ ही करतारपुर गलियारे के उद्घाटन और गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के दिन पाकिस्तान द्वारा लिया जाने वाला 20 अमेरिकी डालर (करीब 1400 रुपये) का शुल्क भी नहीं लिया जाएगा।

करतारपुर गलियारे का उद्घाटन ऐसे वक्त में हो रहा है जब राजधानी इस्लामाबाद में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं और उनके नेता मौलाना फजलुर रहमान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने पाकिस्तान के करतारपुर में रावी नदी के किनारे स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे में अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे। यह गलियारा पंजाब के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ता है।

नई दिल्ली। भारतीय सिख श्रद्धालुओं के लिए नौ नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर खुल जाएगा। आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमारान खान ने करतारपुर कॉरिडोर की मनमोहक तस्वीर साझा की। उन्होंने इसके साथ लिखा कि करतारपुर सिख श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए तैयार है। इमरान खान ने आज गुरुद्वारा दरबार साहिब की कई तस्वीर साझा करते हुए कहा कि गुरु नानक जी के 550 वें जन्मोत्सव समारोह के लिए रिकॉर्ड समय में करतारपुर को तैयार करने के लिए सरकार को बधाई देना चाहता हूं। इन तस्वीरों को खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 9 नवंबर को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन से पहले साझा किया। वर्ष 2019 सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती वर्ष है, जिनका जन्मस्थान पाकिस्तान में श्री ननकाना साहिब है। ऐसा माना जा रहा है कि ऐसा करके खान धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने यहां आने के इच्छुक सिख श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की शर्त को समाप्त कर दिया था। इसके साथ ही करतारपुर गलियारे के उद्घाटन और गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के दिन पाकिस्तान द्वारा लिया जाने वाला 20 अमेरिकी डालर (करीब 1400 रुपये) का शुल्क भी नहीं लिया जाएगा। करतारपुर गलियारे का उद्घाटन ऐसे वक्त में हो रहा है जब राजधानी इस्लामाबाद में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं और उनके नेता मौलाना फजलुर रहमान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने पाकिस्तान के करतारपुर में रावी नदी के किनारे स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे में अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे। यह गलियारा पंजाब के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ता है।