इमरान खान ने कहा- मोदी से बातचीत की संभावना खत्म, दी जंग की धमकी

imran khan
इमरान खान ने कहा- मोदी से बातचीत की संभावना खत्म, दी जंग की धमकी

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान(Imran Khand) ने कहा है कि वह भारत (India) के साथ बातचीत करने की अपील नहीं करेंगे। इसके साथ ही, इमरान खान ने एक बार फिर परमाणु युद्ध की धमकी दी। विदेशी मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में पाकिस्तानी पीएम ने शिकायत करते हुए कहा कि उन्होंने बार-बार बातचीत के लिए अनुरोध किया लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नजरअंदाज कर दिया।

Imran Khan Threatens Nuclear War Says Talks With India Have No Meaning :

भारत से बातचीत की तमाम कोशिशें कीं

एक सवाल के जवाब में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा, “हमने भारत से बातचीत शुरू करने के लिए हर तरह के प्रयास किए। इनमें कोई कमी नहीं रखी। लेकिन, मुझे लगता है कि भारत सरकार और प्रधानमंत्री को किसी तरह की बातचीत में कोई रुचि नहीं है। इसलिए आप अब कह सकते हैं कि बातचीत की संभावना न के बराबर है।”

अमन की उम्मीद अब नहीं

इमरान ने आगे कहा, “मैंने हर मुमकिन कोशिश की, ताकि दोनों मुल्कों में अमन बहाली हो। लेकिन, जब पलटकर देखता हूं तो लगता है कि शांति और बातचीत के मेरे प्रयास विफल रहे। मेरी कोशिशों का इस्तेमाल उन्होंने कुछ लोगों को खुश करने में किया। मुझे लगता है कि इससे ज्यादा हम कुछ कर भी नहीं सकते। लिहाजा, दोनों परमाणु हथियार संपन्न देशों में युद्ध का खतरा बढ़ता जा रहा है।” इमरान ने यह इंटरव्यू इस्लामाबाद स्थित अपने ऑफिस में दिया।

कश्मीर सुरक्षा की पहली पंक्ति

इससे पहले इमरान खान ने मंगलवार को कहा था कि पाकिस्तान के लिये कश्मीर सुरक्षा की पहली पंक्ति है। उनकी कैबिनेट ने यह फैसला किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने जब संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे तब उस दौरान पाकिस्तान कश्मीर में स्थति को रेखांकित करेगा।

खान की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक के बाद यह घटनाक्रम सामने आया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की सूचना मामलों की विशेष सहायक फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि कैबिनेट की बैठक के दौरान खान ने जोर दिया कि कश्मीर पाकिस्तान के लिये सुरक्षा की पहली पंक्ति है।

उन्होंने कहा कि मोदी 27 सितंबर को खान से पहले संयुक्तराष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे।

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान(Imran Khand) ने कहा है कि वह भारत (India) के साथ बातचीत करने की अपील नहीं करेंगे। इसके साथ ही, इमरान खान ने एक बार फिर परमाणु युद्ध की धमकी दी। विदेशी मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में पाकिस्तानी पीएम ने शिकायत करते हुए कहा कि उन्होंने बार-बार बातचीत के लिए अनुरोध किया लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नजरअंदाज कर दिया। भारत से बातचीत की तमाम कोशिशें कीं एक सवाल के जवाब में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा, “हमने भारत से बातचीत शुरू करने के लिए हर तरह के प्रयास किए। इनमें कोई कमी नहीं रखी। लेकिन, मुझे लगता है कि भारत सरकार और प्रधानमंत्री को किसी तरह की बातचीत में कोई रुचि नहीं है। इसलिए आप अब कह सकते हैं कि बातचीत की संभावना न के बराबर है।” अमन की उम्मीद अब नहीं इमरान ने आगे कहा, “मैंने हर मुमकिन कोशिश की, ताकि दोनों मुल्कों में अमन बहाली हो। लेकिन, जब पलटकर देखता हूं तो लगता है कि शांति और बातचीत के मेरे प्रयास विफल रहे। मेरी कोशिशों का इस्तेमाल उन्होंने कुछ लोगों को खुश करने में किया। मुझे लगता है कि इससे ज्यादा हम कुछ कर भी नहीं सकते। लिहाजा, दोनों परमाणु हथियार संपन्न देशों में युद्ध का खतरा बढ़ता जा रहा है।” इमरान ने यह इंटरव्यू इस्लामाबाद स्थित अपने ऑफिस में दिया। कश्मीर सुरक्षा की पहली पंक्ति इससे पहले इमरान खान ने मंगलवार को कहा था कि पाकिस्तान के लिये कश्मीर सुरक्षा की पहली पंक्ति है। उनकी कैबिनेट ने यह फैसला किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने जब संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे तब उस दौरान पाकिस्तान कश्मीर में स्थति को रेखांकित करेगा। खान की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक के बाद यह घटनाक्रम सामने आया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की सूचना मामलों की विशेष सहायक फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि कैबिनेट की बैठक के दौरान खान ने जोर दिया कि कश्मीर पाकिस्तान के लिये सुरक्षा की पहली पंक्ति है। उन्होंने कहा कि मोदी 27 सितंबर को खान से पहले संयुक्तराष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे।