इमरान ने आतंकियों को बताया कश्मीरियों का मददगार

imran khan
इमरान ने आतंकियों को बताया कश्मीरियों का मददगार

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में जबसे आर्टिकल 370 हटाया गया तबसे पाकिस्तानी पीएम बौखलाए हुए नजर आ रहे हैं और आये दिन कोई न कोई गीदड़ धमकी देते रहते हैं। दुनिया के कई देशों के सामने उन्होने कश्मीर का रोना रोया लेकिन हर जगह से उन्हे निराशा ही मिली। इस बार भी उन्होने एक विवादित बयान देते हुए कश्मीर में घुसपैठ करने वाले आतंकियों को कश्मीर का मददगार बता दिया।

Imran Told Militants Helpful :


इमरान खान झूठा प्रोपगैंडा फैलाने में माहिर माने जाते हैं, इस बार भी उन्होने ट्वीट के जरिये कहा कि लोग कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद से अमानवीय हालत में रहने को मजबूर हैं। यही नही उन्होने कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश करने वाले आतंकियों को मददगार बताया और कहा कि भारत इन मददगारों को दुनिया के सामने पाकिस्तान प्रायोजित इस्लामी आतंकवाद करार देता है। भारत को ऐसा करके कश्मीरियों पर अत्याचार करने का मौका मिल जाता है साथ ही नियंत्रण रेखा पर हमला करने का मौका भी मिल जाता है।

आपको बता दें कि भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से 5 अगस्त को आर्टिकल 370 के प्रावधानो को निष्प्रभाव कर दिया गया था जिसके बाद सरकार ने भारी मात्रा में सुरक्षाबल भी तैनात कर दिया था। अब घाटी में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। सरकार ने जिन नेताओं को नजरबंद किया था उन्हे भी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर रिहा कर दिया गया।

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के लोग शान्त है और हालत भी अच्छे हैं लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है। लगातार पाकिस्तान की तरफ से आतंकी घुसपैठ कर रहे हैं और नियंत्रण रेखा पर लगातार पाकिस्तानी सेना फायरिंग कर रही है। लेकिन भारतीय सुरक्षाबलों के सामने आतंकी अपनी साजिशों में पूरी तरह से फेल होते हुए नजर आ रहे हैं। पाकिस्तान के पीएम ये मानने को तैयार ही नही हैं कि कश्मीर के हालात पूरी तरह से सामान्य हैं।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में जबसे आर्टिकल 370 हटाया गया तबसे पाकिस्तानी पीएम बौखलाए हुए नजर आ रहे हैं और आये दिन कोई न कोई गीदड़ धमकी देते रहते हैं। दुनिया के कई देशों के सामने उन्होने कश्मीर का रोना रोया लेकिन हर जगह से उन्हे निराशा ही मिली। इस बार भी उन्होने एक विवादित बयान देते हुए कश्मीर में घुसपैठ करने वाले आतंकियों को कश्मीर का मददगार बता दिया। इमरान खान झूठा प्रोपगैंडा फैलाने में माहिर माने जाते हैं, इस बार भी उन्होने ट्वीट के जरिये कहा कि लोग कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद से अमानवीय हालत में रहने को मजबूर हैं। यही नही उन्होने कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश करने वाले आतंकियों को मददगार बताया और कहा कि भारत इन मददगारों को दुनिया के सामने पाकिस्तान प्रायोजित इस्लामी आतंकवाद करार देता है। भारत को ऐसा करके कश्मीरियों पर अत्याचार करने का मौका मिल जाता है साथ ही नियंत्रण रेखा पर हमला करने का मौका भी मिल जाता है। आपको बता दें कि भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से 5 अगस्त को आर्टिकल 370 के प्रावधानो को निष्प्रभाव कर दिया गया था जिसके बाद सरकार ने भारी मात्रा में सुरक्षाबल भी तैनात कर दिया था। अब घाटी में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। सरकार ने जिन नेताओं को नजरबंद किया था उन्हे भी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर रिहा कर दिया गया। आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के लोग शान्त है और हालत भी अच्छे हैं लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है। लगातार पाकिस्तान की तरफ से आतंकी घुसपैठ कर रहे हैं और नियंत्रण रेखा पर लगातार पाकिस्तानी सेना फायरिंग कर रही है। लेकिन भारतीय सुरक्षाबलों के सामने आतंकी अपनी साजिशों में पूरी तरह से फेल होते हुए नजर आ रहे हैं। पाकिस्तान के पीएम ये मानने को तैयार ही नही हैं कि कश्मीर के हालात पूरी तरह से सामान्य हैं।