असम: साइकिल पर भाई का शव ले जाने को मजबूर हुआ युवक, जांच के आदेश

गुवाहाटी| असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशालय को माजुली जाकर उन परिस्थितियों की जांच करने का निर्देश दिया जिसमें युवक को अपनी संबंधी के शव को साइकिल से अस्पताल से घर ले जाना पड़ा। टीवी चैनलों द्वारा माजुली के गरमूर इलाके के एक अस्पताल से एक युवक द्वारा अपने संबंधी का शव साइकिल से नदी किनारे के बलिजान गांव ले जाने का प्रसारण करने के तुरंत बाद यह निर्देश दिया गया।




युवक ने मीडिया से कहा कि वह अपने बीमार संबंधी को एक अस्पताल में भर्ती कराने के लिए साइकिल से ले गया था। बीमार व्यक्ति ने अस्पताल पहुंचने के बाद दम तोड़ दिया। उसने बताया कि वह शव उसके घर ले जा रहा था, वहां सड़क ठीक नहीं और उसके घर के रास्ते में कई बांस के पुल हैं, ऐसे में शव को गाड़ी में ले जाने में दिक्कत आती।

माजुली असम का सबसे बड़ा नदी द्वीप है। इसका प्रतिनिधित्व मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल विधानसभा में करते हैं। यह निर्वाचन क्षेत्र लखीमपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के तहत आता है, जिसका एक बार प्रतिनिधित्व मुख्यमंत्री ने किया था। सोनोवाल ने लखीमपुर संसदीय सीट 2016 में राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद छोड़ दी थी।




अस्पताल की अधीक्षक माणिक मिली ने कहा, “मरीज को उसके रिश्तेदार द्वारा मंगलवार की सुबह अस्पताल लाया गया था। हालांकि, हम जैसे ही इलाज शुरू करने और उसे आक्सीजन देने की तैयारी कर रहे थे उसकी मौत हो गई। हमने रिश्तेदार से इंतजार करने को कहा जिससे हम एंबुलेंस की व्यवस्था कर दें, लेकिन संबंधी ने बात नहीं मानी और साइकिल पर शव को बांध लिया और वापस ले गया।”