1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कानपुर देहात में कर्मचारियों ने अधिवक्ता से किया अभद्र व्यवहार, एडीएम को ज्ञापन सौंपकर की बर्खास्तगी की मांग

कानपुर देहात में कर्मचारियों ने अधिवक्ता से किया अभद्र व्यवहार, एडीएम को ज्ञापन सौंपकर की बर्खास्तगी की मांग

अधिवक्ता अपनी जान जोखिम में डालकर हर व्यक्ति को मुसीबत से बचाते हैं, इसीलिए हजारों दुश्मन हो जाते है। समाज में समानता लाने का काम पूरी शिद्दत से करते हैं। उसके दरवाजे सभी के लिए सदैव खुले रहते है। उक्त बातें मुलायम सिंह यादव एडवोकेट पूर्व महामंत्री जिला बार एसोसिएशन कानपुर देहात ने विगत दिनों साथी अधिवक्ता यदुराज सिंह से तहसील मैथा जनपद कानपुर देहात के कर्मचारियों द्वारा अभद्र व्यवहार करने पर अपर जिलाधिकारी कानपुर देहात गरिमा सिंह को ज्ञापन देकर बर्खास्त करने की मांग करते हुए कही।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। अधिवक्ता अपनी जान जोखिम में डालकर हर व्यक्ति को मुसीबत से बचाते हैं, इसीलिए हजारों दुश्मन हो जाते है। समाज में समानता लाने का काम पूरी शिद्दत से करते हैं। उसके दरवाजे सभी के लिए सदैव खुले रहते है।

पढ़ें :- आरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने पर कांग्रेस ने कसा तंज, बोली-'कायर नहीं लड़ सकते इस लड़ाई को '

उक्त बातें मुलायम सिंह यादव एडवोकेट पूर्व महामंत्री जिला बार एसोसिएशन कानपुर देहात ने विगत दिनों साथी अधिवक्ता यदुराज सिंह से तहसील मैथा जनपद कानपुर देहात के कर्मचारियों द्वारा अभद्र व्यवहार करने पर अपर जिलाधिकारी कानपुर देहात गरिमा सिंह को ज्ञापन देकर बर्खास्त करने की मांग करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पीड़ित और उपेक्षित को न्याय दिलाना ही अधिवक्ता का धर्म है। उन्होंने कहा कि वादकारियों के हितों की रक्षा करना अधिवक्ताओं का नैतिक कर्तव्य है जो अधिवक्ता कर रहे हैं, परंतु लोक सेवक अपने कर्तव्यों को भूल गए ज्ञापन में मांग की गई कि तहसील मैथा के महेश व प्रमोद कर्मचारी जो भ्रष्टाचार में लिप्त है।

इनकी संपत्ति की जांच कराई जाए। बेईमानी से अर्जित पूरी संपत्ति जप्त कर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। अपराधिक मुकदमा दर्ज किया जाए दोनों कर्मचारियों को बर्खास्त किया जाए। लोक सेवक का कार्य लोक कर्तव्य का निर्वाह करना होता है। अधिवक्ता से अभद्र व्यवहार करना लोक सेवक के रहते विधि विरुद्ध कार्य किया है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं के साथ हो रहे। अपराधिक घटनाओं के बचाव के लिए अधिवक्ता प्रोटेक्शन एक्ट अभिलंब लागू किया जाए। ज्ञापन देने हैं रमेश चंद सिंह गौर गरिमा सिंह संजय सिंह सिसोदिया अंजनी कुमार कटियार आशुतोष दुबे मनोज सिंह पुष्पेंद्र सिंह यादव कर्मवीर सिंह यदुराज सिंह धर्मेंद्र सिंह दीपक यादव नीरज सिंह विपिन कुमार शर्माआदि लोग उपस्थित रहे।

पढ़ें :- आगरा कैंट (सुरक्षित) सीट से ट्रांसजेंडर राधिका बाई राजनीति के धुरंधरों को देंगी चुनौती, मुकाबले को बनाया दिलचस्प
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...