महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश, मोदी कैबिनेट ने लगाई मुहर !

modi cabinet
महाराष्ट्र में राज्यपाल ने राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की, मोदी कैबिनेट ने लगाई मुहर

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जारी खींचतान के बीच मंगलवार को भी स्थिति साफ होती नजर नहीं आ रही है। बताया जा रहा है कि इस कारण वहां के राज्यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी है। वहीं, शिवसेना ने राष्‍ट्रपति शासन की स्थिति में सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है।

In Maharashtra Governor Recommended Presidents Rule Modi Cabinet Approved :

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राष्‍ट्रपति शासन की स्थिति में मामले को चुनौती देने के मसले पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल से बात की है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर अभी कुछ भी साफ नहीं हो पाया है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि मोदी कैबिनेट ने राष्ट्रपति को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की अनुशंसा कर दी है।

इसी बीच शिवसेना भी सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। उधर, जयपुर के पांच सितारा रिजॉर्ट में बैठे कांग्रेस के विधायकों ने साफ कर दिया है कि विचारधारा को लेकर शिवसेना के साथ सरकार बनाने में देरी नहीं करनी चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मीटिंग के बाद जयपुर पहुंचे वरिष्ठ नेता केसी पड़वी और विजय वडेट्टीवार ने साफ कहा कि हम शिवसेना के साथ सरकार बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जारी खींचतान के बीच मंगलवार को भी स्थिति साफ होती नजर नहीं आ रही है। बताया जा रहा है कि इस कारण वहां के राज्यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी है। वहीं, शिवसेना ने राष्‍ट्रपति शासन की स्थिति में सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राष्‍ट्रपति शासन की स्थिति में मामले को चुनौती देने के मसले पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल से बात की है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर अभी कुछ भी साफ नहीं हो पाया है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि मोदी कैबिनेट ने राष्ट्रपति को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की अनुशंसा कर दी है। इसी बीच शिवसेना भी सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। उधर, जयपुर के पांच सितारा रिजॉर्ट में बैठे कांग्रेस के विधायकों ने साफ कर दिया है कि विचारधारा को लेकर शिवसेना के साथ सरकार बनाने में देरी नहीं करनी चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मीटिंग के बाद जयपुर पहुंचे वरिष्ठ नेता केसी पड़वी और विजय वडेट्टीवार ने साफ कहा कि हम शिवसेना के साथ सरकार बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।