1. हिन्दी समाचार
  2. मन की बात में PM ने बेटियों का सम्मान करने को कहा, तंबाकू सेवन छोड़ने की भी अपील की

मन की बात में PM ने बेटियों का सम्मान करने को कहा, तंबाकू सेवन छोड़ने की भी अपील की

In Mann Ki Baat Pm Asks To Honor Daughters Also Appeals To Quit Tobacco Consumption

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी मन की बात कार्यक्रम करते हैं तो हर बार देश वासियों से कोई न कोई संकल्प जरूर लेने को कहते हैं। इस रविवार को उन्होने अपने दूसरे कार्यकाल का चौथा मन की बात कार्यक्रम सम्बोधित किया। इस बार उन्होने युवाओं को ई सिगरेट से होने वाले खतरों के बारे में बताया साथ ही तंबाकू सेवन छोड़ने की अपील भी की। इस दौरान उन्होने 2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ चलाये जाने वाले अभियान में भागीदारी देने की भी अपील किया है।

पढ़ें :- WTC Final : साउथैम्पटन में टीम इंडिया पहली पारी में 217 पर ऑल आउट, जैमिसन ने झटके पांच विकेट

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार लगातार युवा पी​ढ़ी को नशे की लत से बचाने के लिए अभियान चला रही है, इसी के चलते ई सिगरेट पर पाबन्दी लगाई गयी है। उन्होने कहा कि ई सिगरेट में बेहद ही ख्रतरनाक केमिकल मिलाये जाते हैं, इसलिए अगर कोई गलतफेमी फैलाता है तो उसकी बातो पर न जायें। पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान दिवाली में पटाखे छोड़ते समय आस पास में रहने वाले लोगों की परेशानियो का भी ख्‍याल रखने की अपील की।

पीएम मोदी ने कहा कि हम इस बार बापू की 150वीं जंयती मनाने जा रहे हैं, इसलिए सभी देश वासियों को दो अक्टूबर को स्वच्छता का संकल्प लेना चाहिए। उन्होने कहा कि हमारा देश पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अनेको काम कर रहा है इसलिए अब हम सब को मिलकर सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ चलाए जाने वाले अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए।

पीएम ने कार्यक्रम के दौरान रूसी टेनिस खिलाड़ी देनिल मेदवेदेव को युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बताया। उन्होने कहा जीत हार से कुछ नही होता, डेनियल मेदवेदेव के भाषण इसका उदाहरण थे जिन्होने पूरी दुनिया को प्रभावित किया। पीएम ने देश वासियों से बेटियों का सम्मान करने की भी अपील की साथ ही एक भारत श्रेष्ठ भारत के लिए 31 अक्टूबर को सरदार पटेल जी की जंयती पर रन फॉर यूनिटी में हिस्सा लेने को भी कहा।

पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में देशवासियों को नवरात्रि, दशहरा, दीवाली, भैया-दूज, छठ पूजा समेत सभी त्योहारों के लिए शुभकानाएं भी दी । उन्‍होंने कहा कि जहां कुछ लोग आनन्द पूर्वक त्योहार मनाते हैं वहीं कुछ घरों में रोशनी और मिठाईयां तक नसीब नही होती, ऐसे में हम सबको उनके साथ मिलकर त्योहार मनाना चाहिए ताकि ‘चिराग तले अंधेरे’ को मिटाया जा सके।

पढ़ें :- खुशखबरी : देश में अब मुफ्त टीकाकरण, Co-Win पर पंजीकरण की अनिवार्य खत्म,न करें देर

पीएम ने मन की बात के दौरान लता मंगेशकर व सिस्टर मरियम थ्रेसिया की तारीफ की। उन्होने कहा कि नई पीढ़ियों को इनसे सीखने की जरूरत है। उन्होने कार्यक्रम के दौरान त्योहारों में बेटियों के सम्मान के कार्यक्रम करने की अपील की। उन्होने कहा कि बेटियों को हमारी संस्क्रति में लक्ष्मी माना जाता है और बेटियां सौभाग्य व समृद्धि लाती हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X