‘आधार’ न होने से अस्पताल ने नहीं किया इलाज, कारगिल शहीद की बेटी ने दिया ये बयान

maut

सोनीपत। यहां एक निजी अस्पताल की संवेदनहीनता का मामला सामने आया है जिसकी वजह से कारगिल शहीद की पत्नी की जान चली गयी। बताया जा रहा है कि इलाज के अभाव में महिला की मौत हो गयी। अस्पताल ने महज इस बात पर महिला का इलाज नहीं किया क्योकि उसके पास आधार कार्ड नहीं था। इस मामले पर कारगिल में शहीद के परिजनों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कारगिल युद्ध के दौरान देश के लिए अपनी जान देने वाले मेजर सीबी द्विवेदी की बेटी दीक्षा द्विवेदी ने इस पर सख्त बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि यह कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि ऐसा भी हो सकता है।

वहीं, कारगिल शहीद कैप्टन विजयंत थापर के पिता वीएन थापर ने इस बेहद अफसोस जनक बताया है। उन्होंने कहा कि हम अलग तरह के इंसान बनते जा रहे हैं। ऐसी घटनाएं हमारे सैनिकों के मनोबल को प्रभावित करेंगी।

{ यह भी पढ़ें:- आधार का विकल्प बनेगा वर्चुअल आईडी, 1 जुलाई से होगा अनिवार्य }

मामला गुरुवार का सोनीपत के ट्यूलिप हॉस्पिटल का है। शहीद के परिवारवालों का आरोप है कि उन्होंने मोबाइल पर आधार की कॉपी दिखाई थी। इतना ही नहीं उन्होंने आधार का नंबर भी बताया था। लेकिन इसके बावजूद अस्पताल ने इलाज करने से मना कर दिया। इसके बाद जब परिवारिजन महिला को लेकर दूसरे अस्पताल पहुंचे तब तक उसकी मौत हो गई।

बता दें कि कारगिल युद्ध में शहीद लक्ष्मण दास के बेटे पवन कुमार सोनीपत के महलाना गांव में रहत हैं। उनकी मां शकुंतला को कैंसर था। उनके इलाज के लिए परिजन सोनीपत के ट्यूलिप अस्पताल पहुंचे। आरोप है कि अस्पताल ने भर्ती से पहले आधार कार्ड मांगा। इसकी ओरिजनल कॉपी नहीं मिलने पर भर्ती करने से इनकार कर दिया। वहीं दूसरी तरफ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अस्पताल प्रशासन ने किसी भी तरह की लापरवाही से इनकार किया। उनका कहना है कि उसे इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था, लेकिन वे वहां से चले गए।

{ यह भी पढ़ें:- कम उम्र में माउंट एवरेस्ट फतह कर शिवांगी पाठक ने रचा इतिहास }

सोनीपत। यहां एक निजी अस्पताल की संवेदनहीनता का मामला सामने आया है जिसकी वजह से कारगिल शहीद की पत्नी की जान चली गयी। बताया जा रहा है कि इलाज के अभाव में महिला की मौत हो गयी। अस्पताल ने महज इस बात पर महिला का इलाज नहीं किया क्योकि उसके पास आधार कार्ड नहीं था। इस मामले पर कारगिल में शहीद के परिजनों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कारगिल युद्ध के दौरान देश के लिए अपनी जान देने वाले मेजर…
Loading...