कोरोना के मामले में मायानगरी से देश की राजधानी से आगे निकल गई

COVID-19: झारखंड में एक दिन में आए 22 नए मामले, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 154
COVID-19: झारखंड में एक दिन में आए 22 नए मामले, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 154

नई दिल्ली: कोरोना के मामले में मायानगरी मुंबई से देश की राजधानी दिल्ली आगे निकल गई है. एक दिन में सामने आने वाले नए मरीजों का आंकड़ा मुंबई के मुकाबले दिल्ली में तीन गुना ज्यादा है, जबकि डबलिंग रेट के मामले में तो दिल्ली और मुंबई के आंकड़े का अंतर दिल्ली वालों के लिए अच्छे संकेत है.

In The Case Of Corona It Overtook The Capital Of The Country From Mayanagari :

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 788 नए मरीज सामने आये हैं, जबकि मुंबई में 24 घंटों में सामने आने वाले मरीजों की संख्या 1 हजार 118 है. दिल्ली में संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार पहुंच गया है, जबकि मुंबई में कोरोना के कुल 69 हजार 528 है. मौतों की बात करें तो 24 घंटे में दिल्ली में 64 मरीजों की जान गई है, वहीं मुम्बई में 38 लोगों की मौत हुई.

आंकड़े बता रहे हैं कि मुंबई में कोरोना का शिकंजा कुछ ढीला हुआ है तो वहीं दिल्ली पर वायरस ताबड़तोड़ वार कर रहा है, दिल्ली और मुम्बई में 24 घंटे में सामने आने वाले मरीजों की संख्या में तीन गुना से ज्यादा का फर्क है. एक दिन में होने वाली मौतों के मामले में भी दिल्ली, मुंबई से आगे निकल गई है. कुल मरीजों का आंकड़ा भी मुंबई को पीछे छोड़ गया है.

बीएमसी के मुताबिक मुंबई में डबलिंग रेट 39 दिन है तो वहीं दिल्ली में करीब 14 दिनों में मरीजों की संख्या दो गुना हो रही है. मुंबई में कोरोना के एक्टिव केस 28 हजार 548 हैं, जबकि दिल्ली में 26 हजार 588 यानि यहां भी दिल्ली, मुंबई से ज्यादा पीछे नहीं है.

इस बीच दिल्ली सरकार हालात से निपटने की तैयारियों में जुटी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलएनजेपी हॉस्पिटल के सामने एक बैंक्वेट हॉल का दौरा किया. इस बैंक्वेट हॉल में 100 बेड का कोविड सेंटर तैयार किया गया है. सीएम ने ऐलान किया है कि दिल्ली के सभी बैंक्वेट हॉल कोरोना सेंटर में तब्दील किए जाएंगे और हर बेड पर ऑक्सीजन का इंतजाम होगा.

छतरपुर के राधा स्वामी ब्यास में 10 हजार बेड का विशाल कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो चुका है. इसके संचालन का जिम्मा आईटीबीपी को सौंपा गया है. पैरा मिलिट्री फोर्स के डॉक्टर और नर्स यहां मरीजों की देखभाल करेंगे. ये कोविड केयर सेंटर 26 जून को शुरू हो जाएगा.

नई दिल्ली: कोरोना के मामले में मायानगरी मुंबई से देश की राजधानी दिल्ली आगे निकल गई है. एक दिन में सामने आने वाले नए मरीजों का आंकड़ा मुंबई के मुकाबले दिल्ली में तीन गुना ज्यादा है, जबकि डबलिंग रेट के मामले में तो दिल्ली और मुंबई के आंकड़े का अंतर दिल्ली वालों के लिए अच्छे संकेत है. दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 788 नए मरीज सामने आये हैं, जबकि मुंबई में 24 घंटों में सामने आने वाले मरीजों की संख्या 1 हजार 118 है. दिल्ली में संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार पहुंच गया है, जबकि मुंबई में कोरोना के कुल 69 हजार 528 है. मौतों की बात करें तो 24 घंटे में दिल्ली में 64 मरीजों की जान गई है, वहीं मुम्बई में 38 लोगों की मौत हुई. आंकड़े बता रहे हैं कि मुंबई में कोरोना का शिकंजा कुछ ढीला हुआ है तो वहीं दिल्ली पर वायरस ताबड़तोड़ वार कर रहा है, दिल्ली और मुम्बई में 24 घंटे में सामने आने वाले मरीजों की संख्या में तीन गुना से ज्यादा का फर्क है. एक दिन में होने वाली मौतों के मामले में भी दिल्ली, मुंबई से आगे निकल गई है. कुल मरीजों का आंकड़ा भी मुंबई को पीछे छोड़ गया है. बीएमसी के मुताबिक मुंबई में डबलिंग रेट 39 दिन है तो वहीं दिल्ली में करीब 14 दिनों में मरीजों की संख्या दो गुना हो रही है. मुंबई में कोरोना के एक्टिव केस 28 हजार 548 हैं, जबकि दिल्ली में 26 हजार 588 यानि यहां भी दिल्ली, मुंबई से ज्यादा पीछे नहीं है. इस बीच दिल्ली सरकार हालात से निपटने की तैयारियों में जुटी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलएनजेपी हॉस्पिटल के सामने एक बैंक्वेट हॉल का दौरा किया. इस बैंक्वेट हॉल में 100 बेड का कोविड सेंटर तैयार किया गया है. सीएम ने ऐलान किया है कि दिल्ली के सभी बैंक्वेट हॉल कोरोना सेंटर में तब्दील किए जाएंगे और हर बेड पर ऑक्सीजन का इंतजाम होगा. छतरपुर के राधा स्वामी ब्यास में 10 हजार बेड का विशाल कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो चुका है. इसके संचालन का जिम्मा आईटीबीपी को सौंपा गया है. पैरा मिलिट्री फोर्स के डॉक्टर और नर्स यहां मरीजों की देखभाल करेंगे. ये कोविड केयर सेंटर 26 जून को शुरू हो जाएगा.