इस देश में सरकार चाहती है जंगली बिल्लियों का खात्मा

cat
इस देश में सरकार चाहती है जंगली बिल्लियों का खात्मा

नई दिल्ली। भारत में धार्मिक मान्यता है कि अगर इंसान से अनजाने में भी बिल्ली की मौत हो जाए तो सोने की बिल्ली चढ़नी पड़ती है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया में तो इसका उल्टा हो रहा जहां ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस कदम से दुनिया भर के बिल्ली प्रेमियों के निशाने पर है। जी हां आप सही समझ रहे ऑस्ट्रेलिया ने अपने यहां मौजूद जंगली बिल्लियों को खत्म करने की घोषणा की है।

In This Country The Government Wants To End The Destruction Of Wild Cats :

आपको बता दें बिल्लियों के खात्में के लिए सरकार ने लाखों जंगली बिल्लियों को मारने के लिए जमीन पर हवाई जहाज से जहरीले सॉसेज के छिड़काव का फैसला किया है।जिसे खाकर बिल्लियां खत्म हो जाएंगी। वहां जंगली बिल्लियों की आबादी इतनी बढ़ गई है कि इनके शिकार से बीस स्तनधारी जीव प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं। जहरीले सॉसेज कंगारू के मांस, चिकन के वसा से बने होंगे। बिल्लियां इसे खाने के पंद्रह मिनट के भीतर मर जाएंगी।

इतना ही नहीं इस कार्य के लिए तैनात किए गए विमानों से बिल्ली ग्रस्त क्षेत्रों में प्रत्येक किलोमीटर पर 50 सॉसेज को एयरड्रॉप किया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया में बिल्लियां हर साल 37.7 करोड़ पक्षियों और 649 सरीसृपों को मार देती हैं। ऑस्ट्रलियाई सरकार की इस योजना का कई लोग विरोध भी कर रहे हैं। कथित तौर पर 160,000 से ज्यादा लोगों ने सरकार के इस फैसले को रोकने के लिए करीब आधा दर्जन ऑनलाइन याचिकाओं पर हस्ताक्षर किए।

नई दिल्ली। भारत में धार्मिक मान्यता है कि अगर इंसान से अनजाने में भी बिल्ली की मौत हो जाए तो सोने की बिल्ली चढ़नी पड़ती है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया में तो इसका उल्टा हो रहा जहां ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस कदम से दुनिया भर के बिल्ली प्रेमियों के निशाने पर है। जी हां आप सही समझ रहे ऑस्ट्रेलिया ने अपने यहां मौजूद जंगली बिल्लियों को खत्म करने की घोषणा की है। आपको बता दें बिल्लियों के खात्में के लिए सरकार ने लाखों जंगली बिल्लियों को मारने के लिए जमीन पर हवाई जहाज से जहरीले सॉसेज के छिड़काव का फैसला किया है।जिसे खाकर बिल्लियां खत्म हो जाएंगी। वहां जंगली बिल्लियों की आबादी इतनी बढ़ गई है कि इनके शिकार से बीस स्तनधारी जीव प्रजातियां विलुप्त हो चुकी हैं। जहरीले सॉसेज कंगारू के मांस, चिकन के वसा से बने होंगे। बिल्लियां इसे खाने के पंद्रह मिनट के भीतर मर जाएंगी। इतना ही नहीं इस कार्य के लिए तैनात किए गए विमानों से बिल्ली ग्रस्त क्षेत्रों में प्रत्येक किलोमीटर पर 50 सॉसेज को एयरड्रॉप किया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया में बिल्लियां हर साल 37.7 करोड़ पक्षियों और 649 सरीसृपों को मार देती हैं। ऑस्ट्रलियाई सरकार की इस योजना का कई लोग विरोध भी कर रहे हैं। कथित तौर पर 160,000 से ज्यादा लोगों ने सरकार के इस फैसले को रोकने के लिए करीब आधा दर्जन ऑनलाइन याचिकाओं पर हस्ताक्षर किए।