1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. Diabetes Diet: डायबिटीज रोगी अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें ये आटे

Diabetes Diet: डायबिटीज रोगी अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें ये आटे

By आस्था सिंह 
Updated Date

लखनऊ। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी और गड़बड़ खानपान के चलते आज के समय में डायबिटीज एक बहुत ही आम समस्या बन चुका है। लेकिन दुख की बात यह है कि भारत में डायबिटीज रोगियों की संख्या में लगातार बढ़ती ही जा रही है। वैसे तो आप सभी जानते होंगे कि डायबिटीज रोगियों को अपने खानपान का बहुत ख्याल रखना पड़ता है, लेकिन कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं, जिसके सेवन से आप डायबिटीज को कंट्रोल में रख सकते हैं। डायबिटीज रोगियों को अपनी डाइट में प्रोटीन, फाइबर के साथ कुछ अन्य जरूरी पोषक तत्व शामिल करने की सलाह दी जाता है। आइए जानते हैं किन आटे के सेवन से डायबिटीज कंट्रोल किया जा सकता है।

कुट्टू का आटा

  • कुट्टू का आटा डायबिटीज रोगियों के लिए एक अच्छा विकल्प है, क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने के लिए प्रभावी है।
  • कुट्टू का आटा खाने से संबंधित ब्लड शुगर के स्तर को 12 से 19 प्रतिशत तक कम कर देता है।
  • कुट्टू का आटा आपके हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और वजन घटाने में भी मददगार है।
  • आप इस आटे के पराठे, चीला और पकोड़े तैयार कर खा सकते हैं।

रागी का आटा

  • चावल और गेहूं से बेहतर है कि आप रागी के आटे का सेवन करें क्योंककि यह एक फ़ाइबर-रिच आटा है।
  • डायबिटीज रोगियों के लिए रागी के आटे को फायदेमंद माना जाता है क्यों कि यह आपको लंबे समय तक फुलर रखने और पाचन को बढ़ावा देता है। जिससे कि डायबिटीज कंट्रोल में रहती है।
  • आप रागी की कई डिश तैयार कर सकते हैं, जैसे- रागी चपाती, रागी माल्ट, रागी डोसा आदि।

राजगिरा का आटा

  • राजगिरा या अमरनाथ का आटा पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जिसे डायबिटीज रोगियों के लिए अच्छाह माना जाता है।
  • यह आटा हाई प्रोटीन, खनिज, विटामिन, और लिपिड जैसे कई माइक्रो न्यूट्रिएंट्स से भरपूर है।
  • इसकी एक खामी है कि राजगिरा आटा एक हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्सा है और इसलिए इसे लो जीआई गेहूं के साथ शामिल किया जाना चाहिए।
    जौ का आटा
  • जौ का आटा आपके मेटाबॉलिज्मय को बढ़ावा देने और क्रोनिक इंफ्लेमेशन से निपटने में मदद करता है।
  • आप जौ का आटा, ओट्स दलिया सा ओट्स खिचड़ी, पराठा और जौ का सत्तू कर सेवन कर सकते हैं।

बेसन या चने का आटा

बेसन या चने का आटे में घुलनशील फाइबर होता है और इस प्रकार यह ब्लसड शुगर के अवशोषण को धीमा करता है।
चने का आटा लो कार्ब्स, प्रतिरोधी स्टार्च और फाइबर का एक अच्छान स्त्रोत है, जो ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने में मदद करता है

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...