आयकर विभाग की तीन राज्यों में बड़ी कार्रवाई, करोड़ों की नकदी बरामद

नई दिल्ली। एक तरह पूरा देश एटीएम में कैश की किल्लत से जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ बड़े धनकुबेर करोड़ों की नकदी के हेरफेर में लगे हैं। इसी सिलसिले में आयकर विभाग ने तीन राज्यों में बड़ी कार्रवाई करते हुए 14.48 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है। आयकर विभाग ने ये छापेमारी कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और पंजाब में की है।

Income Tax Department Seized 14 Crore Rupees :

सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग ने ऐसे व्यक्तियों और कारोबारियों के ठिकाने पर छापेमारी की है, जहां नकदी जमा होने की सूचना मिली थी। जब्त की गई 14.48 करोड़ रुपये की नकदी 2000 रुपये और 500 रुपये के नोट में है। आयकर विभाग के अनुसार हैदराबाद में दो रियल एस्टेट कारोबारियों के यहां छापेमारी में 5.10 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है। जिसका उनके बही खाते में कोई हिसाब नहीं था।

वहीं पंजाब के खन्ना जिले में मैन्युफैक्चरिंग गतिविधियां करने वाले एक ग्रुप पर छापेमारी के दौरान 2.62 करोड़ रुपये की ज्वैलरी बरामद की गयी है। यह ग्रुप अपने बही खाते से बाहर खरीद-बिक्री कर रहा था। उसे अपने बही खाते में दर्ज नहीं करता था और बहुत कम मुनाफा दिखाता था।

विभागीय सूत्रों का कहना है कि कर्नाटक में यह नकदी पीडब्ल्यूडी ठेकेदारों के यहां से बरामद हुई है। इन ठेकेदारों को इस साल जनवरी-मार्च के दौरान ठेके दिए गए थे। कर्नाटक में नकदी जब्त होने का मामला इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां विधान सभा चुनाव चल रहा है।

आयकर विभाग ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। आयकर विभाग ने ट्वीट कर बताया, “आयकर विभाग ने पिछले दो दिनों में कुछ जगहों पर छापेमारी कर 14.48 करोड़ रुपये की धनराशि बरामद की। ये धनराशि बैंगलुरू, हैदराबाद और पंजाब के खन्नान में की।”

नई दिल्ली। एक तरह पूरा देश एटीएम में कैश की किल्लत से जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ बड़े धनकुबेर करोड़ों की नकदी के हेरफेर में लगे हैं। इसी सिलसिले में आयकर विभाग ने तीन राज्यों में बड़ी कार्रवाई करते हुए 14.48 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है। आयकर विभाग ने ये छापेमारी कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और पंजाब में की है। सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग ने ऐसे व्यक्तियों और कारोबारियों के ठिकाने पर छापेमारी की है, जहां नकदी जमा होने की सूचना मिली थी। जब्त की गई 14.48 करोड़ रुपये की नकदी 2000 रुपये और 500 रुपये के नोट में है। आयकर विभाग के अनुसार हैदराबाद में दो रियल एस्टेट कारोबारियों के यहां छापेमारी में 5.10 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है। जिसका उनके बही खाते में कोई हिसाब नहीं था। वहीं पंजाब के खन्ना जिले में मैन्युफैक्चरिंग गतिविधियां करने वाले एक ग्रुप पर छापेमारी के दौरान 2.62 करोड़ रुपये की ज्वैलरी बरामद की गयी है। यह ग्रुप अपने बही खाते से बाहर खरीद-बिक्री कर रहा था। उसे अपने बही खाते में दर्ज नहीं करता था और बहुत कम मुनाफा दिखाता था। विभागीय सूत्रों का कहना है कि कर्नाटक में यह नकदी पीडब्ल्यूडी ठेकेदारों के यहां से बरामद हुई है। इन ठेकेदारों को इस साल जनवरी-मार्च के दौरान ठेके दिए गए थे। कर्नाटक में नकदी जब्त होने का मामला इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां विधान सभा चुनाव चल रहा है। आयकर विभाग ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। आयकर विभाग ने ट्वीट कर बताया, "आयकर विभाग ने पिछले दो दिनों में कुछ जगहों पर छापेमारी कर 14.48 करोड़ रुपये की धनराशि बरामद की। ये धनराशि बैंगलुरू, हैदराबाद और पंजाब के खन्नान में की।"